22 February 2024

झरिया थाना की पुलिस गश्ती टीम को आक्रोशित लोगों ने खदेड़ा

Ad Space

अर्णव अपनी छोटी बहन को स्कूल छोड़कर घर लौटने के दौरान ट्रक की चपेट में आया

झरिया: झरिया थाना क्षेत्र के सिंह नगर के समीप एक नाबालिग की सड़क दुर्घटना में हुई मौत के बाद जमकर बबाल काटा . आक्रोशित भीड़ ने सड़क जाम कर सैकड़ों से अधिक वाहनों में तोड़फोड़ कर दी. भीड़ ने टायर जलाकर रोड को जाम कर दिया.

पुलिस और पत्रकारों को भी नहीं बख्शा. पत्रकारों को फोटोग्राफी करने से रोका गया।

अगर कोई मोबाइल से फोटो लेने की कोशिश कर रहा है, तो उसे भी पीट दे रहे थे. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पहुंची पुलिस को भी लोगों ने खदेड़ दिया. झरिया कतरास मोड़ केंदुआ मुख्य मार्ग सिंह नगर बस्ती के समीप शनिवार की सुबह करीब 8:30 बजे ट्रक की चपेट मे आने से अर्णव कुमार (15) की मौत हो गई. वह मैट्रिक का छात्र था.

दुर्घटना के बाद ट्रक चालक वाहन लेकर फरार हो गया. स्थानीय लोगों ने पीछा कर घटनास्थल से करीब 400 मीटर की दूरी पर ट्रक को पकड़ा.चालक ट्रक छोड़कर भाग गया.

दुर्घटना से आक्रोशित स्थानीय लोगों ने सड़क किनारे करीब दो दर्जन गैरेज में खड़े सैकड़ों ट्रक एवं हाईवा में तोड़फोड़ की. सुबह-सुबह हुई इस घटना से आसपास के लोग आक्रोशित हो उठे. लोगों का कहना था कि वर्षों से हम इस रास्ते से कोयला ढोने वाले वाहनों को नहीं चलाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन लोगों की मांग पर ध्यान नहीं दिया जा रहा. जिला प्रशासन एवं बीसीसीएल प्रबंधन दोनों के कान पर जूं नहीं रेंग रही. लोगों ने कहा कि कई घटनाओं में लोगों की मौत होने के बाद भी प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है. लोगों का आक्रोश इतना बढ़ गया कि आसपास के यार्ड में घुसकर वहां खड़े वाहनों के शीशे तोड़ दिये. घटना की सूचना मिलने पर घटनास्थल पर पहुंची झरिया थाना की पुलिस गश्ती टीम को भी आक्रोशित लोगों ने खदेड़ दिया. घटनास्थल पर अर्णव का शव रखकर सड़क को भी जाम कर दिया. वहीं, मुख्य सड़क पर टायर जलाकर लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया.अर्णव अपनी छोटी बहन को स्कूल छोड़कर सिंह नगर स्थित अपने घर लौट रहा था. तभी यह हादसा हो गया. अर्णव के पिता दिलीप सिंह व्यवसायी हैं.

लोगों के आक्रोश का सामना करने की पुलिस में भी हिम्मत नहीं हो रही. दुर्घटना के चार घंटे बीत जाने के बाद भी घटनास्थल पर पुलिस नहीं पहुंची है. इस दौरान पूरा क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई है. इस मार्ग से आवागमन पूरी तरह से ठप है. पुलिस करीब 8 घंटे बाद घटना स्थल पर पहुंची और आक्रोशित लोगों को लगी समझाने के बाद लोग सड़क जाम हटाया. पुलिस ने आश्वासन दिया कि 12 फरवरी को बस्ताकोला विकास भवन में बस्ताकोला महाप्रबंधक, विधायक प्रतिनिधि, झरिया पुलिस के साथ रूट डायवर्सन को लेकर वार्ता होगी. पुलिस अर्णव का शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए SNMCH अस्पताल भेज दिया।

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"