26 May 2024

पत्थर युक्त कोयला उठाने या धैया बंगले वाले बाबू से मैनेज करने का बनाया जा रहा है दबाव:-

Ad Space

धनबाद:- बीसीसीएल पीबी एरिया के गोपालिचक 2 नंबर कोलियरी अंतर्गत कोल डंप में भ्रष्टाचार चरम पर है। कोलियरी के कुछ अधिकारी आउटसोर्सिंग प्रबंधक से मिलीभगत कर मनपसंद डीओ धारकों को कोयले का उठाव करा रहे है। वही इ ऑक्सन के तहत डीओ लगाने वाले अन्य डीओ धारक बेजुबान बन मूक दर्शक बने हुए है।

मेसर्स जय मां तारा के ऑथराइज्ड लिफ्टर प्रदीप कुमार गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि विगत 4 दिनों से आवंटित कोयला उठाव को लेकर उनकी 6 ट्रके उक्त कोल डंप में खड़ी है। लेकिन उन्हें कोयला नही दिया जा रहा है। दिखावे के लिए कोल डंप में आउटसोर्सिंग प्रबंधक द्वारा पत्थर युक्त कोयला गिरवा उठाव करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

जबकि इसको लेकर उन्होंने कई बार कोलियरी प्रबंधन से शिकायत किया परंतु आश्वासन के सिवाय कुछ नहीं मिला। उन्होंने बताया कि कोल डंप में मौजूद आउटसोर्सिंग कंपनी के गुर्गे इशारों में धैया बंगले वाले बाबू को मैनेज करने की बात कहते है। वही जो डीओ धारक मैनेज कर लिए है उनकी ट्रकों में बेहतर क्वालिटी का कोयला लोड कराया जा रहा है जो की गलत है।

गोपालीचक कोलियरी में भ्रष्टाचार चरम पर

इस बाबत मेसर्स जय मां तारा के प्रोपराइटर रंजित रवानी ने बताया कि गोपालिचक कोलियरी में अभी भी 500 टन आवंटित कोयले का उठाव करना है लेकिन भ्रष्टाचार को लेकर उठाव नही कर पा रहे है।कोयला उठाव को लेकर ट्रक संख्या जेएच 10एस 6305,जेएच 10बीए 7453, जेएच 10सीडी 7860,जेएच 10एक्यू 9310,जेएच 02आर 1402 कई दिनों से कोल डंप में खड़ी है उक्त ट्रकों में लोड करने के लिए सही कोयला नही दिया जा रहा है।संबंधित मामले पर बीसीसीएल के स्थानीय अधिकारियों से शिकायत करने पर वे टाल मटोल करते है। इस तरह के उदासीन रवैए से आहत हूं।

धनसार सहित अन्य कोलियारियों में भी इसी तरह के हालात:-

श्री रवानी ने आगे बताया कि गोपालीचक कोलियरी तो सिर्फ एक झलक है। कुसुंडा एरिया के धनसार सहित कई अन्य कोलियारियो में भी इसी तरह के हालात है। दबंग आउटसोर्सिंग संचालकों द्वारा डीओ धारकों को परेशान किया जा रहा है जिससे वो तंग आकर दबंगों की बात मान ले और कोयला उठाव के लिए रंगदारी की रकम तय कर दे। कहा की जिला प्रशासन और बीसीसीएल ने जल्द ही इस बाबत कोई कार्रवाई नहीं की तो कोयलांचल के हर कोलियरी में डर दहशत का माहौल बना रहेगा। जिससे टकराव की संभावना भी बनी रहेगी।

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"