23 April 2024

(रिपोर्ट,छोटे खान)

Ad Space

Wasepur:धनबाद:–वासेपुर में बन रहे पुल का काम लगभग पूरा हो चुका है और अगले महीने मुबारक महीना रमजान से पहले पहले पुल को आम जनों के लिए खोल दिया जाएगा जो की यहां के लाखों लोगों के लिए राहत लेकर आएगी।

बतादे यह मुख्य मार्ग भूली, आजाद नगर, वासेपुर जैसे बहुसंख्या क्षेत्र को शहर के बैंक मोड़ से जोड़ता है और हर दिन इस पुल से लाखों लोग होकर गुजरते हैं।

पुल पहले जर्जर स्थिति में था जिस कारण यहां से गुजरने वाले लोग जान का जोखिम लेकर यहां से गुजरते थे हालांकि अब उन लोगों को जोखिम नहीं उठाना पड़ेगा और वह सुरक्षित इस पुल के माध्यम से आवागमन सुचारू रूप से कर पाएंगे लेकिन कंस्ट्रक्शन के दौरान इस पुल की ऊंचाई को बढ़ाया गया है।

आखिर पुल के ऊंचाई को क्यू बढ़ाया गया यह भी पढ़े।

पुल के ऊंचाई को बढ़ाने का कारण वर्ष 1995 में आए बाढ़ है उस वक्त बढ़ की वजह से पुल टूट कर बह गया था कई घरों का सामान बाढ़ में बह गया था और बाढ़ का पानी पुल के ऊपर से गुजरने लगा था जिसको देखते हुए कंस्ट्रक्शन कंपनी ने पुल की हाइट को ऊंचा किया है ताकि भविष्य में ऐसी परिस्थिति में भी पुल सुचारू रूप से चालू रहे और आम लोगों को किसी भी प्रकार की समस्या ना हो।

वहीं जब न्यूज टुडे झारखंड के संवाददाता छोटे खान ने ठेकेदार परवेज आलम खान से बात किया तो उन्होंने बताया कि पुल को बनाने की अवधि 6 महीने है और 1 नवंबर से पुल बनाने का काम शुरू किया गया है और फरवरी में पुल को बना दिया गया है जिसके ऊपर इस वक्त मैं खड़ा हूं जिस पर रेलिंग का कास्टिंग का काम चल रहा है और कोशिश है की रमजान से पहले पहले इस पुल को आम लोगों के लिए चालू कर दिया जाएगा।

आम लोगो की समस्या का वजह क्या

यहां के आम लोगों को हो रही समस्या के बारे में बताते हुए ठेकेदार ने बताया कि यहां के लोगों के द्वारा रोड के बगल की जगह का अतिक्रमण किया गया है जिस कारण रोड के कंस्ट्रक्शन के दौरान डायवर्शन नहीं बनाया जा सका इस कारण यहां के लोगों को आने जाने में समस्या हो रही है।

आगे उन्होंने बताया की चुकी मैं भी यही का रहने वाला हु और मुझे यह पुल बनाने का काम मिला है लेकिन 1995 मे आए बाढ़ की वजह से यह पुल बाढ़ में टूट कर बह गया था जिस कारण काफी समय तक आवागमन बाधित रहा था यह के लोगो के साथ साथ मेरे परिवार के लोगो को भी दिक्कत हुवि थी और मेरे ही प्रयासों से उस वक्त भी बीसीसीएल के वेस्ट मैटेरियल को लाकर यहां भरवाया था जिसके बाद रास्ता चालू हुआ था और इस वक्त भी इस ब्रिज का काम मुझे मिला है और रमजान से पहले इसे बना कर चालू कर देंगे

पुल को बना कर तैयार करने की अवधि अप्रैल तक है।

वही पुल का काम अभी चल रहा है लेकिन हर दिन सैकड़ो लोग इस पुल से गुजरते है और जो लोहे का पट्टा पुल पर काम कर रहे मजदूरों के लिए लगाया गया है उसका इस्तेमाल राहगीर करते है आम लोगों की सुरक्षा को देखते हुए उसपर रेलिंग बनया गया है ताकि उन्हें सुविधा हो।

वहीं वासेपुर के रहने वाले मोहम्मद शाहबाज ने बताया कि उन्हें याद है 1995 में आए बाढ़ की वजह से यह पुल टूटा था और यहां के लोगों को काफी दिनों तक समस्या हुई थी साथ ही उस वक्त के मुकाबले इस वक्त पापुलेशन बढ़ गई है जिसको देखते हुए इस बार जो पुल बनाया गया है वह बेहतर है और इस पुल के बनने से हमारे वासेपुर के लोग काफी खुश है।

वासेपुर के रहने वाले मोहम्मद जिन्ना ने बताया की मैं इस पुल से प्रतिदिन आना-जाना करता हूं पहले इस पुल की स्थिति जर्जर थी और अब जा कर इस पुल का निर्माण कराया जा रहा है यह पुल आने वाले 200 सालों तक चलेगा और यहां के लोग इस पुल का इस्तेमाल करते रहेंगे।
पुल निर्माण के दौरान यहां से गुजरने वाले लोगों को हो रही समस्या के बारे में बताते हुए कहा कि यहां के लोगों के द्वारा अतिक्रमण किया गया है जिस कारण से डायवर्सन नहीं बनाया जा सका लेकिन पुल के ऊपर से पट्टा लगाकर रास्ता बनाया गया है जिसके माध्यम से लोग पुल से पैदल आना-जाना कर पा रहे हैं।

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"