23 April 2024

तोपचांची: सोमवार को लक्ष्मी हत्या कांड के विरुद्ध सैकड़ों महिलाओं ने धनबाद जिला स्थित तोपचांची थाना का घेराव किया. विरोध में उपस्थित महिलाओं ने पुलिस प्रशासन हाय हाय व हत्यारे को फांसी दो का जमकर नारेबाजी किया.

Ad Space

ज्ञात हो कि तोपचांची थाना क्षेत्र के नेरो पंचायत के रंगाडीह गांव निवासी गुजर महतो के 2 वर्षीय पुत्री लक्ष्मी कुमारी अचानक लापता हो गई थी. लापता के 13 दिन बीत जाने के बाद राजगंज थाना क्षेत्र के बरडार जोरिया स्थित लक्ष्मी कुमारी का शव क्षत-विक्षत अवस्था में पाया गया. पुलिस घटना के बाद दो व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

सोमवार को थाना घेराव करने पहुंची महिलाओं ने कहा कि पुलिस अगर सही समय में सही कार्य करती तो आज लक्ष्मी कुमारी का हत्या नहीं होती. पुलिस को जल्द हत्यारे खोजने और फांसी की सजा देने की मांग की गई

लक्ष्मी कुमारी की मां रीता देवी अपने गोद में 2 माह की नवजात शिशु लेकर थाना घेराव करने पहुंची. रीता देवी ने कहा कि इतने दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस हत्यारे को नहीं पकड़ सकी. महिलाओं ने कहा कि लक्ष्मी कुमारी की हत्या के बाद नेरो पंचायत के बच्चे काफी डरे एवं सहमे हुए हैं. बच्चे डर से स्कूल नहीं जा रहे हैं.

घर में दुबक कर रहने को है मजबूर. तोपचांची थाना प्रभारी संजय कुमार ने उग्र महिलाओं को समझाते हुए कहा कि मामले से संबंधित टेक्निकल सेल की मदद ली जा रही है. बहुत जल्द आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

उग्र महिला थाने के बाद प्रखंड सह अंचल कार्यालय परिसर में अनिश्चितकालीन धरना पर बैठे नेरो पंचायत के मुखिया उमेश कुमार का भी घेराव किया. उग्र महिलाओं ने मुखिया के उपर लापता बच्ची के मामले में गंभीरता नहीं लेने व हत्या के बाद मामले को नहीं देखने का आरोप लगाया. उग्र महिलाओं को तोपचांची प्रमुख आनंद महतो, मुखिया लक्ष्मी नारायण वर्णमाला, सरवर खान, प्रसिद्ध सिंह, द्वारिका प्रसाद महतो ने महिलाओं को शांत करवाया.

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"