29 May 2024

DHANBAD:धनबाद जिला 20-सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति के उपाध्यक्ष ब्रजेन्द्र प्रसाद सिंह के नेतृत्व में जिला में व्याप्त बिजली-पानी की ज्वलंत समस्याओं के साथ-साथ जिला प्रभारी मंत्री की उपस्थिति में जल्द ही होने वाली जिला 20-सूत्त्री की बैठक की तैयारी को लेकर मिश्रित भवन स्थित जिला 20-सूत्री कार्यालय में सभी सदस्यों की एक आवश्यक बैठक आयोजित की गई।

Ad Space

बैठक को संबोधित करते हुए जिला 20-सूत्री कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष ब्रजेन्द्र प्रसाद सिंह ने कहा कि जिला में प्रभारी मंत्री की उपस्थिति में जल्द ही जिला 20-सूत्री की बैठक आयोजित की जाएगी जिसमें जिला के तमाम विभागों के अधिकारियों की उपस्थिति रहेगी और जिला के सभी ज्वलंत समस्याओं के निराकरण करने को लेकर उक्त बैठक अहम होगी,

आगे उन्होंने कहा कि जिला में व्याप्त बिजली,पानी की समस्या गंभीर है,खासकर

धनबाद,झरिया,कतरास,लोयाबाद,केंदुआ-करकेन्द,भूली,वासेपुर सहित तोपचांची,टुंडी,गोविंदपुर निरसा,बलियापुर के ग्रामीण क्षेत्रों में भी इस भीषण गर्मी में पानी की घोर समस्याएं उत्पन्न हुई है,

झारखंड सरकार एवं जिला प्रशासन से इन समस्याओं का निराकरण अविलंब करने की मांग की गई।आगे श्री सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार गैर भाजपा शासित राज्यों के साथ सौतेला व्यवहार करने का काम कर रही है केंद्र सरकार के कारण एवं डीवीसी की लचर व्यवस्था के कारण निर्बाध बिजली लोगों को नहीं मिल पा रही है और लगातार आठ से 9 घंटा तक बिजली की कटौती की जा रही है,बिजली की लचर व्यवस्था के कारण व्यवसायियों में कारोबारियों एवं कल कारखाने चलाने वालों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है लोगों को एक्स्ट्रा पेट्रोल-डीजल का खर्च करना पड़ रहा है,रही जनता की बात बिजली की समस्या से लोग त्राहिमाम कर रहे हैं इसमें केंद्र सरकार पूर्ण रूप से दोषी हैं और उनके इशारे पर डीवीसी प्रत्यक्ष रूप से बिजली को काट दे रही है।

डीवीसी के अधिकारी इस तरह का कृत्य कर झारखंड सरकार को बदनाम करने का काम कर रही है,आगे श्री सिंह ने कहा कि धनबाद जिला 20 सूत्री कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति केंद्र सरकार से मांग करती है कि डीवीसी के माध्यम से जिला में लोगों के लिए बिजली की दुरुस्त व्यवस्था की जाए ताकि व्यवसायियों कारोबारियों कल कारखाने चलाने वालों के साथ साथ आम लोगों एवं पठन-पाठन करने वाले छात्रों के व्याप्त बिजली की समस्याओं से निजात मिल सके।

आगे श्री सिंह ने कहा कि 2,000 की नोटबंदी केंद्र सरकार की नाकामी है,आगे उन्होंने कहा की केंद्र सरकार ने 7 साल पहले 1000 और 500 के नोट बंद कर कहा था कि इससे भ्रष्टाचार में बढ़ोतरी हो रही और लोगों को इससे फायदा पहुंचेगी और काला धन लाने का आश्वासन दिया था पर केंद्र सरकार का यह आश्वासन सिर्फ और सिर्फ जुमला साबित हुआ है,2000 के नोट को मात्र 7 साल में ही बंद कर देने की फरमान जारी किया जाना जो केंद्र सरकार की विफलता एवं नाकामी को दर्शाती है,आर्थिक क्षेत्रों में सुधार को लेकर आर्थिक एवं वित्त मंत्रालय में कोई सक्षम अधिकारी नहीं होने के कारण लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है,केंद्र की मोदी सरकार को इंदिरा जी,राजीव गांधी एवं मनमोहन सरकार के सफल कार्यों से प्रेरणा लेने की दरकार है।
मौके पर मदन महतो,शमशेर आलम,राजू प्रमाणिक,जितेश सिंह,पप्पू कुमार तिवारी,मनोज कुमार हाड़ी सहित सभी सदस्य उपस्थित थे।

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"