18 June 2024

समस्या : विभाग और संवेदक के विवाद में आम जनता परेशान,विगत 20 वर्षों से आरा मोड़ से मटकुरिया सड़क मार्ग जर्जर…

Ad Space

NEWSTODAYJ :धनबाद जिले के राजगंज थाना अंतर्गत जरमुनई गांव निवासी अग्रसेन की पुत्रवधु व मनीष अग्रवाल की पत्नी डिंकी अग्रवाल का शव सोमवार की रात से घर के दरवाजे पर पड़ा है।घर में परिवार के कोई सदस्य नहीं है।सूचना मिलने पर राजगंज पुलिस पहुंची।बताया जाता है कि मनीष व डिंकी की शादी वर्ष 2020 में हुई थी। शादी के बाद से दोनों के बीच अनबन शुरू हो गयी। इधर, आठ माह से डिंकी अपने मायके डालटनगंज में अपनी वृद्ध मां शोभा देवी के साथ रह रही थी। रविवार को मनीष व डिंकी की शादी सालगिरह थी। डिंकी अपने पति के आने के इंतजार में मायके में सज-धज कर बैठी थी।इसी बीच अचानक उसकी मौत हो गयी।मृतका के परिजनों के अनुसार घटना की सूचना दिए जाने के बाद भी ससुराल वालों ने इसपर सुध नहीं ली।इधर, सोमवार शाम को डिंकी की मां उसका शव राजगंज लाकर जरमुनई में डिंकी के ससुराल के दरवाजे पर रख कर चली गयी। इधर गांव में भी कोई सुध लेने वाला नहीं है। किसी तरह राजगंज पुलिस सूचना पाकर मौके पर पहुंची व शव पर चौकीदार का पहरा लगा दिया है। बताया जाता है कि मृतका की बड़ी गोतनी व चचेरा देवर मौके पर पहूंचे हुए हैं।2020 में हुई थी शादी -2020 में शादी के आठ माह बाद ही विवाद में विवाहिता को घर से निकाल दिया गया था। उस समय अखबारों की सुर्खियां बनने के बाद ससुराल वालों ने उसे घर पर रखा था। बाद में फिर विवाद के बाद उसे घर से भगा दिया गया था। सूत्र बताते हैं कि डिंकी को ससुराल वाले मानसिक रूप से बीमार बताकर घर पर नहीं रख रहे थे।मृतका के ससुर अग्रसेन अग्रवाल व सास झानो देवी जरमुनई में ही रहते हैं।पति मनीष अग्रवाल कोलकाता में प्राइवेट काम करता है।घटना के बाद से सभी गायब हैं।वहीं अगल बगल रहने वाले अन्य परिजन इस मामले में कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं। मृतका की बड़ी गोतनी भी अपने ससुराल से अलग रहती है।

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"