28 May 2024

अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए हर सप्ताह थाना प्रभारी और पुलिसकर्मियों एक किलोमीटर करेंगे पैदल गश्ती…

Ad Space

न्यूज टुडे झारखंड/बिहार(Garhwa) गढ़वा जिले में पुलिस और ग्रामीणों के बीच बुधवार को जमकर झड़प हुई. ग्रामीणों ने पुलिस कर्मियों पर पत्थरबाजी की जिससे सात पुलिस के जवान घायल हो गए है. हालांकि अपने बचाव में पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए आत्मरक्षा के लिए चार राउंड फायरिंग की. दरअसल यह मामला जिले के रमना थाना क्षेत्र के बहियार गांव का है जहां दखल दहानी के लिए गांव पहुंची पुलिस के साथ ग्रामीणों की झड़प हुई. आपको बता दें, अनुमंडलीय सिविल कोर्ट के सिविल जज जूनियर डिवीजन की अदालत ने रमना थाने की पुलिस को एक भूमि को लेकर निर्देश दिया था कि पीड़ित को उसका जमीन पर दखल दिलाया जाए. कोर्ट के इसी आदेश पर आज यानी बुधवार (01 नवंबर) को पुलिस प्रेम नाथ उरांव दलबल के साथ पीड़ित को दखल दिलाने के लिए गांव पहुंची थी लेकिन दूसरे पक्ष के लोगों को कोर्ट का यह फैसला नगवार गुजरी. जिसके बाद पुलिस से बातचीत के बीच बहस होने लगी. इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया. और देखते ही देखते जगह रन क्षेत्र मे तब्दील हो गया.इधर पुलिस ग्रामीणों की स्थिति को देखते हुए पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू किया और अपनी आत्मरक्षा के लिए उन्हें चार राउंड हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी. जानकारी के अनुसार, इस झड़प में 7 पुलिसकर्मी घायल हो गए जबकि इस एक ग्रामीण भी घायल हुआ है. घटना के बाद जिला मुख्यालय से भारी संख्या में पुलिस जवानों को घटनास्थल पर भेजा गया. जिसके बाद पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया. घटना स्थल पर एसडीएम, बीडीओ, पुलिस के अन्य अधिकारी ने कैम्प किया. वहीं, मौके पर पहुंचे एसडीएम ने मामले को लेकर बताया कि कोर्ट के आदेश पर दखल दिलाने का मामला था पुलिस और मजिस्ट्रेट यहां आई हुई थी इसी में झड़प हुई है आगे जांच जारी है कुछ पुलिसकर्मी, कोर्ट के कर्मी घायल हुए हैं रमना सामुदायिक अस्पताल में सभी का इलाज किया जा रहा हैं. सीओ ने बताया की पुलिस ने आत्मरक्षा के लिए चार राउंड फायरिंग की है.

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"