18 April 2024

वेलेंटाइन वीक पर बीजेपी नेत्री और निजी ड्राइवर के प्रेम संबध की चर्चा जोरों पर,पत्नी से विवाद के बाद ड्राइवर ने की सुसाइड की कोशिश!

Ad Space

DHANBAD:धनबाद।7 फरवरी से 14 फरवरी तक प्रेमी प्रेमिका के लिए खास दिन होता है।लेकिन अगर कोई प्रगाढ़ प्रेम को लेकर मौत को गले लगाने की कोशिश करे तो यह मामला एका एक सुर्खियाओं में आ जाता है।लोग दिलचस्पी लेकर इस बात की चर्चा करते है ,लोग नही तो प्रेमी प्रेमिका।और तब जब यह प्रेम की कथा किसी बड़े ओहदे से जुड़ा हुआ हो,इसकी चर्चा होना बेहद लाजिमी है। जी हां ऐसी ही एक घटना कोयलांचल में सामने आई है।जो वेलेंटाइन वीक में लोगों की जुबां पर है।

एक शादी शुदा युवक जहर खाकर जान देने की कोशिश की।जान देने की कोशिश इसलिए क्योंकि पति और पत्नी के बीच प्रेमिका को लेकर विवाद हुआ।विवाद के बाद झगड़ा और फिर गुस्से में आकर पति ने जहर खाकर जान देने की कोशिश की।यही नहीं पति को अस्पताल भर्ती कराया गया।अस्पताल में भर्ती के दौरान भी प्रेमिका और पत्नी के बीच नोक झोंक हुई।फिलहाल पति अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने घर लौट गया है।लेकिन प्रेमिका को लेकर पति पत्नी के बीच अब भी कलह जारी है।

यह कहानी है जिले के सरायढेला राधा स्वामी मार्केट के पीछे रहने वाले विश्वजीत पांडेय की है।

विश्वजीत पांडेय पिछले चार सालों से सरायढेला के वीर कुंअर सिंह नगर की रहने वाली भाजपा की वरिष्ठ नेत्री सह महिला बिल्डर रमा सिन्हा के यहां निजी ड्राइवर के रूप में काम करता आ रहा है।विश्वजीत की माता गायत्री देवी का कहना है कि उसकी पत्नी प्रियंका पांडेय कहती है कि रमा सिन्हा से वह प्रेम करता है।इस बात को लेकर पति पत्नी के बीच विवाद हुआ। दोनों के बीच लड़ाई झगड़ा भी हुआ।इस दौरान विश्वजीत ने जहर पी लिया और गोली भी खा ली।उसके बाद एक ऑटो बुलवाकर उसे SNMMCH ले गए।घटना की जानकारी रमा सिन्हा और उसके पति को दी।जिसके बाद रमा सिन्हा और उसके पति दोनो उसे देखने के लिए अस्पताल पहुंचे।लेकिन विश्वजीत की पत्नी ने अस्पताल में रमा सिन्हा और उसके पति से भी लड़ाई झगड़ा कर दिया।

वहीं विश्वजीत का कहना है कि उसके द्वारा जो कुछ भी किया घरेलू विवाद में किया गया।

जिसमे रमा सिन्हा कोई दोष नही है।उनकी राजनीतिक छवि धूमिल करने की कोशिश है।उन्होंने कहा कि कुछ नेताओं को उनसे डर है।वह कुछ ऐसा काम कर रही है कि वह नेताओं पर हावी है।आज उनका पूरा झारखंड में नाम है।वह कोई ऐसा मौका नहीं देती जो उन्हे कोई बदनाम कर सके।कोई नही मिला तो एक हम मिले, 24 घंटे हम उनके साथ रहते हैं,उनका काम करते हैं।विश्वजीत ने कहा कि पिछले 15 सालों से पत्नी को लेकर परेशान हूं।पत्नी से विवाद के कारण ही जहर खाकर जान देने की कोशिश की।

वहीं मामले को लेकर भाजपा नेत्री रमा सिन्हा ने कहा कि जब आप राजनीति में आते हैं तो किसी तरह का भी आपके ऊपर लांछन लगाया जा सकता है।

यह पूरा का पूरा राजनीतिक स्टंट है।उन्होंने कहा कि विश्वजीत पिछले चार साल से हमारे घर के सदस्य के रूप में काम करता आ रहा है।बहुत अच्छे संबध से बच्चे की तरह हमारे घर में रह रहा है। उन्होने कहा कि हर पति पत्नी के बीच घरेलू कलह होता है।घरेलू कलह निपटाकर लोगों का घर बसाना मेरा काम है और आगे भी मैं सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करते रहूंगी। मैं डरने वाली ,रुकने वाली और झुकने वाली नही हूं।अभी तक मुझे कोई नीचा नही दिखा पाया।इसलिए मेरी राजनीतिक छवि को धूमिल करने की यह कोशिश है।उन्होंने कहा कि जो भी इस साजिश में शामिल है।उन सभी के नाम और चेहरे सामने आयेंगे।

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"