14 April 2024

NEWSTODAYJ : झारखंड राज्य के धनबाद जिले के बरमसिया तालाब सौ वर्ष पुरानी तालाब इस तालाब में सौ वर्षों से छठ पर्व मनाई जाती है।पर इस वर्ष 2023 में इस तालाब में छठ पर्व नही मनाई जाएगी।इसको लेकर बरमसिया छठ पूजा समिति की ओर से मुख्य रास्ता में पोस्टर लगा कर यह जानकारी दी गई है।कमिटी के सदस्यों ने बताया कि 100 साल में पहली बार बरमसिया छठ तालाब में छठ पूजा नहीं होगी।इस तालाब में नगर निगम सौंदर्यीकरण का काम करा रहा है। इसे देखते हुए बरमसिया छठ पूजा समिति ने यहां पूजा का आयोजन नहीं करने का निर्णय लिया है। इसे लेकर पूजा समिति ने सार्वजनिक सूचना वाला बैनर भी लगा दिया है।पूजा समिति ने तालाब के सामने बैनर लगा कर पूजा का आयोजन नहीं करने की अपील की है। समिति ने लिखा है कि यहां कार्य प्रगति पर है और बड़े-बड़े गड्ढे बन गए हैं। छठव्रतियों के लिए यह खतरनाक हो सकता है। पूजा समिति के सचिव कल्लू चौधरी ने बताया कि तालाब में काम होने की वजह से यहां पूजा का आयोजन नहीं किया जा रहा है। इससे संबंधित एक बैनर भी तालाब जाने वाले रस्ते में लगा दी गई हैं।बरमसिया छठ तालाब में छठ पूजा नहीं होने से आसपास के दस हजार लोगों को परेशानी होगी। यहां हर साल दस हजार से अधिक भीड़ उमड़ती है। यहां बिनोद नगर, बरमसिया, मनईटांड़ कुम्हार पट्टी, चीरागोड़ा से श्रद्धालु पूजा करने के लिए आते हैं। अब इन लोगों को पूजा के लिए वैकल्पिक तालाब चुनना होगा।बरमसिया छठ तालाब के आसपास रहने वाले कुछ लोग अधूरे तालाब में ही पूजा करने की तैयारी कर रहे हैं। आसपास तालाब नहीं रहने की वजह से कुछ लोग यहीं पूजा करेंगे। हालांकि पूजा कमेटी ने खतरनाक घाट का हवाला देकर पूजा नहीं करने की अपील की है।

Ad Space

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"