29 February 2024

NEWSTODAYJ : उत्तर प्रदेश के अयोध्या में श्री राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होनी है।इसको लेकर राजनीति गलियों में बड़े बड़े बयान बाजी की जा रही है।बीते दिन यानी 16 जनवरी को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बयान जारी किए थे।जिसमें उन्होंने श्री राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल नही होने का बयानबाजी किये थे।जिसके बाद बीजेपी व मंदिर के पुजारी लगातार राहुल गांधी के बयान पर अपनी अपनी प्रतिक्रिया दे रही है।17 जनवरी को भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने भी राहुल गांधी के बयान पर पलटवार की है।उन्होंने कही की विपक्ष का काम सिर्फ बोलना ही है लेकिन उन्हें ये भी नहीं मालूम कि वे राम के खिलाफ बोलने के लिए तैयार हो गए हैं। भारतीय होने के नाते हमें इस पर गर्व होना चाहिए की हमारे देश मे धार्मिक कार्यक्रम होने जा रही है।इसको लेकर भी कांग्रेस राजनीति कर रहें है।इस पर राजनीति ना करें। अगर वे नहीं आ रहे हैं तो ये उनका नुकसान है हमारा नहीं।मालूम हो कि 16 जनवरी को नागालैंड में राहुल गांधी ने अपने बयान में कहा था कि 22 जनवरी का जो कार्यक्रम है वो राजनीतिक कार्यक्रम बन गया है।भाजपा और RSS ने 22 तारीख को एक चुनावी फ्लेवर दे दिया है और इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष ने वहां जाने से इंकार कर दिया है।

Ad Space

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"