28 May 2024

झारखंड राज्य के धनबाद जिले में दिवाली को लेकर बाजार में भीड़ भाड़ देखी जा रही है।दिवाली में पटाखा दुकानदारों का बल्ले बल्ले रहता है।लेकिन अवैध तरीके से पटाखा बेचना कानूनी जुर्म है।फिर भी कानून का प्रवाह न करते हुए धनबाद जिले में अवैध तरीके से सब्जी के तरह दुकान लगाकर पटाखा(बारूद) बेची जा रही है।अब जिला प्रशासन भी किया करेंगे कोई शिकायतकर्ता जिला प्रशासन तक अपनी शिकायत नही कर रहें।पर जिला प्रशासन को इस अवैध कारोबार पर लगाम लगाने की जरूरत है।क्योंकि इसतरह पटाखा बिक्री से 1992 में भीषण हादसा घट चुकी है।झरिया में दिवाली त्योहर के समय पूरा मातम छा गई थी।1992 पटाखा कांड आज भी याद करने पर दिल दहल उठता है।2023 में पटाखा बिक्री पुनः घटना का न्योता दे रही है।बाजार में भीड़ भाड़ के दौरन सरेआम बारूद बिक्री हो रही है।झरिया बोरा पट्टी ,झरिया बाजार,झरिया ऊपर कुल्ली,थाना मोड़,कतरास मोड़,झरिया पुष्बंग्ला,झरिया डिगवाडीह अन्य कई स्थानों में अवैध पटाखा दुकान अतिक्रमण का रूप देकर बारूद की बिक्री कर रही है।जो बिना लाइसेंस के धड़ल्ले से अवैध कारोबार करने में लीन है।मालूम हो कि 1992 में इसी तरह अवैध पटाखा बिक्री से भीषण घटना घटित हुई थी जिसमे सरकारी अकड़ा के अनुसार 29 लोगो का मौत हुई थी।हलाकि 50 से अधिक मौत की बात सामने आ रही थी।जिसके बाद आठ साल तक पटाखा बिक्री पर वैन लागू की गई थी।अभी तक पटाखा कांड में पीड़ित परिवार वालो को मुवाबजा भी नही मिली है।

Ad Space

क्राइम : वाहन जांच के दौरन भूली पुलिस ने पिस्टल के साथ तीन युवक को किया गिरफ्तार,पूछताछ जारी…

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"