22 February 2024

न्यूज़ टुडे झारखंड/बिहार(Dhanbad) झरिया विधानसभा क्षेत्र के जेलगोरा जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में त्रिदिवासीय श्री राम कथा के दूसरे दिन गुरुवार को झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह तथा रघुकुल परिवार द्वारा आयोजित श्री राम कथा का शुभारंभ जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम हुआ। कथावाचक पूज्य श्री राजन जी ने श्री राम जी के जन्म को वर्णन करते हुए बताया कि मनुष्य अपने माँ के अंग में नौ महीने रहते हैँ, पर श्रीराम तो विष्णुरूप भगवान थे इसलिए वे अपनी माँ के अंग में पुरे बारह महीने रहे और उसके बाद चैत्र शुक्ल नवमी को पुनर्वसु नक्षत्र एवं कर्क लग्न में आवतरित हुए।अवतरण तो लिया पर प्रभु अपने विराट रूप में आए और कहे माँ बताएं कि क्या करूँ, तो माँ कौशल्या ने उन्हें शिशु रूप अवतरण करने को कहा एवं रोने का आग्रह किया।

Ad Space

उसके बाद प्रभु अपनी माँ के आज्ञा से जब रोये तो पुरे महल में सभी दासियों ने ये खबर महाराजा दसरथ को बताया कि लल्ला का जन्म हुआ है, जिसके बाद महाराजा ने सभी दासियों को उपहार से भर दिया।मुनी विश्वामित्र जी महाराजा दशरथ जी से उनके पुत्रों को जनकल्याण के लिए माँगा तो महाराजा ने कहा कि दो अक्षर का राम होता है तो वही दो अक्षर का धन, भूमि, प्राण आदि होता है, आप राम की जगह इसमें से कुछ भी मांगिये, लेकिन उन्हें समझाया कि इनका जन्म जनकल्याण के लिए ही हुआ है और जब तक आपके सभी पुत्र आश्रम में नहीं जाएंगे तबतक जनकल्याण नहीं कर पाएंगे।उसके बाद चारों पुत्र आश्रम गए, वहाँ मुनी से अस्त्र-शस्त्र का ज्ञान प्राप्त किया।

मुनी ने ज्ञान देते हुए बताया कि जब तक आप अपने आपको गुरु को समर्पित नहीं करेंगे तब तक आपको ज्ञान प्राप्त नहीं होगा।मुनी ने यज्ञ रक्षा के लिए महाराजा दशरथ से श्री राम एवं श्री लक्ष्मण को माँगा तो वे सहर्ष उनको अपने पुत्रों को भेज दिया। मुनी दोनों भाईयो को जनकपुरी लेकर गए। उसके बाद प्रभु राम एवं लक्षमण को सबसे सुन्दर महल में रखा, पर प्रभु सोचे कि अगर मैं महल में ही रहा तो मिथिलावासी मेरे दर्शन से चूक जाएंगे, इसलिए प्रभु अपने गुरु से आज्ञा लेकर जनकपूरी घूमने निकले और नगरवासी उनके दर्शन हेतु अपनी सुध खोकर घर से दौर चले। नगरवासी प्रभु का दर्शन कर भाव बिभोर हो गए और उनकी तुलना विष्णु, ब्रह्मा, शिव, कामदेव आदि से करती हैँ।कथा में शामिल हुए विशिष्ठ अतिथियों को झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह द्वारा श्री राम लिखित अंगवस्त्र तथा श्री राम दरबार का मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया।विशिष्ट अतिथियों में मुख्य रूप से धनबाद के सांसद पी एन सिंह (सपरिवार), गिरिडीह के पूर्व सांसद रविन्द्र पाण्डेय, बरही विधायक उमाशंकर अकेला, बरकट्ठा विधायक अमित कुमार यादव, धनबाद के पूर्व मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल, मारवाडी सम्मेलन के अध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल, यूथ ब्रिगेड के अध्यक्ष सुरेंद्र पोद्दार, विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय उपाध्यक्ष बलदेव पांडेय, हरीश जोशी, बीआईटी सिंदरी के निदेशक पंकज राय, यादव महासभा के अध्यक्ष आर एन सिंह, राजद के जिलाध्यक्ष तारकेश्वर यादव, बाबू वीर कुंवर सिंह विचार मंच के सचिव ललन सिंह, राजपूत विचार मंच के महासचिव सुधीर प्रसाद सिंह, पूर्व पार्षद विक्रमा यादव, पूर्व पार्षद दिनेश सिंह, रामाधर यादव, संतोष महतो, सुधीर सिंह, अभिजीत राज, कुमार गौरव उर्फ सोनू, अनंत नाथ सिंह, भागीरथ पासवान, कृष्ण अग्रवाल, सबूर गोराई आदि लोग थे।

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"