• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

UPSC :दो बहनों ने UPSC में किया कमाल,एक साथ तैयारी कर पिता का नाम किया रौशन…

1 min read

NEWSTODAYJ_दिल्ली निवासी दो बहनों सृष्टि और सिमरन ने एक साथ सिविल सेवा परीक्षा में सफलता पाकर इतिहास रचा है। रोहिणी सेक्टर- 15 निवासी दोनों बहनों ने इंजीनियरिंग और इॅकोनोमिक्स ऑनर्स की डिग्री पाने के बाद मल्टीनेशनल कंपनियों के लाखों के पैकेज छोड़कर देश और पिता नीरज कुमार का सपना पूरा करने के लिए यूपीएससी की तैयारी शुरू की। दोनों मूल रूप से आगरा की है।
यह भी पढ़े…Upsc Result 2021:Upsc परीक्षा परिणामों में झारखंड के अभ्यर्थियों का कमाल,उत्कर्ष कुमार 55वां रैंक हासिल किया

सिविल सेवा में सृष्टि को 373वीं और सिमरन को 474वीं रैंक
घर छोटा होने के चलते जगह नहीं होती थी तो दोनों बहनें पास की ही लाइब्रेरी में जाकर तैयारी करती थीं। सृष्टि को 373 वीं रैंक और सिमरन को 474 वीं रैंक मिली है। परिवार में पिता नीरज कुमार प्रापर्टी का काम करते हैं और मां सुमन गृहिणी हैं।

सृष्टि और सिमरन कहती हैं कि कठिन परिश्रम और लक्ष्य पर फोकस रखने, अपना 100 फीसदी देकर तैयारी करने से सफलता जरूरत मिलती है। ध्यान को भटकने नहीं देना है।

यूएन में भारत का प्रतिनिधित्व करने का सपना:

सिमरन बीटेक पास सिमरन कहती हैं कि बचपन से पापा आईएएस बनने के लिए प्रेरित करते थे। हालांकि मुझे साइंस विषय पसंद थे।कॉलेज की सीनियर दुर्गा शक्ति नागपाल के बारे में सुना तो मेरे अंदर भी सिविल सेवा में जाने की इच्छा जागृत हो गई। मैं विदेश सेवा को चुनना चाहती हूं। मेरा सपना है कि यूनाइटेड नेशन में देश का प्रतिनिधित्व करूं।

पापा का सपना पूरा करने पर रखा फोकस

सृष्टि बचपन से पापा मुझे भी दीदी की तरह आईएएस बनाने के लिए प्रेरित करते थे। लेकिन मैंने स्कूली शिक्षा के बाद दिल्ली के  श्रीराम कॉलेज आफ कॉमर्स में इॅकनॉमिक्स ऑनर्स में दाखिला लिया। फाइनल ईयर में पापा का सपना पूरा करने के लिए यूपीएससी की तैयारी शुरू की

Leave a Reply

Your email address will not be published.