• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Republic day violence : कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन करने वाले का पुलिस ने सीज किए 14 ट्रैक्टर, अन्य 80 की पहचान…

1 min read

Republic day violence : कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन करने वाले का पुलिस ने सीज किए 14 ट्रैक्टर, अन्य 80 की पहचान…

NEWSTODAYJ नई दिल्ली : कृषि कानूनों के विरोध में 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान दिल्ली में हिंसा भड़क गई थी।आंदोलनकारी किसानों ने लाल किले पर कब्जा कर लिया था और अपना झंडा फहरा दिया था।इसके अलावा उग्र किसानों ने लाल किला समेत कई जगहों पर जमकर तोड़फोड़ की और पुलिस पर भी जानलेवा हमला किया।उपद्रवियों ने ड्यूटी पर लगाए गए पुलिसकर्मियों को ट्रैक्टर से कुचलने की भी कोशिश की थी।

यह भी पढ़े…Farmers’ movement : कृषि कानूनों को लेकर किसान आंदोलन का आज 70वां दिन, जींद में होगी महापंचायत…

गणतंत्र दिवस के दिन हुई हिंसा में 500 से भी ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए।दिल्ली पुलिस हिंसा में शामिल 14 ट्रैक्टर को सीज कर चुकी है जबकि अन्य 80 ट्रैक्टर की भी पहचान की जा चुकी है।पुलिस ने बताया कि इनमें वे ट्रैक्टर हैं जो गणतंत्र दिवस की हिंसा में शामिल थे।

यह भी पढ़े…Farmers’ movement : पॉप स्टार रिहाना ने किसान आंदोलन का किया समर्थन, कंगना रनौत ने की पलटवार…

पुलिस के मुताबिक ये ट्रैक्टर सरकारी और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, पुलिस को कुचलने की कोशिश करने और ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ाने में इस्तेमाल किए गए थे।जिन ट्रैक्टरों की पहचान कर ली गई है, पुलिस उनके मालिकों को नोटिस भेजकर बुला रही है।पुलिस ने बताया कि दिल्ली हिंसा में शामिल ज्यादातर ट्रैक्टर पंजाब और हरियाणा के हैं।दिल्ली पुलिस ने बताया कि वे हिंसा की मौजूद वीडियो के आधार पर और भी ट्रैक्टरों की पहचान करने में जुटी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.