• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Ramadan 2021 : रमजान की चौथी व आखिरी जुम्मा आज , कमेटी ने सभी लोगों को अपने-अपने घरों में ही नमाज अदा करने को कहा…

1 min read

Ramadan 2021 : रमजान की चौथी व आखिरी जुम्मा आज , कमेटी ने सभी लोगों को अपने-अपने घरों में ही नमाज अदा करने को कहा…

 

NEWSTODAYJ (न्यूज़ टुडे झारखंड स्पेशल) : धनबाद /रमजान की चौथी व आखिरी जुम्मा शुक्रवार को है, इसे जुमा अतुल विदा भी कहा जाता है। हालांकि संक्रमण की स्थिति व सरकार की गाइडलाइन को देखते हुए जिले की सारी मस्जिद की कमेटियों ने जुमे की नमाज को स्थगित कर दिया है। कमेटी ने सभी लोगों को अपने-अपने घरों में ही नमाज अदा करने को कहा है। रमजान का यह तीसरा अशरा चल रहा है,

यह भी पढ़े…Dhanbad news:11 कंटेनमेंट जोन का निर्माण, लगाया गया कर्फ्यू…

जो मगफीरत का होता है। इस माह में रोजेदार अल्लाह के नजदीक आने की कोशिश के लिए भूख-प्यास समेत तमाम इच्छाओं को रोकता है, बदले में अल्लाह अपने उस इबादत गुजार रोजेदार बंदे के बेहद करीब आकर उसे अपनी रहमतों और बरकतों से नवाजता है।रमजान में की गई हर नेकी का सवाब कई गुना बढ़ जाता है। इस महीने में एक रकात नमाज अदा करने का सवाब 70 गुना हो जाता है। साथ ही इस माह में दोजख के दरवाजे भी बंद कर दिए जाते हैं।

ये भी पढ़े…CORONA NEWS : जिले में आज कोरोनावायरस को हराकर कुल 135 व्यक्ति हुए स्वस्थ , उपायुक्त ने किया सभी लोगो को डिस्चार्ज….

रमजान महीने में भी सूनसान है वासेपुर की सड़कें रमजान के महीने में हमेशा वासेपुर की सड़कों पर सैकड़ों लोगों की चहल-पहल रहती थी।कोई इफ्तार का सामान खरीद रहा होता था तो कोई शहरी का। रमजान के आखिरी हफ्ते में लोग ईद की खरीदारी के लिए उमड़ पड़ते थे। लेकिन अभी हालात यह है कि लोग अपने घरों से निकल ही नहीं रहे हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोग अपने-अपने घरों में ही इबादत कर रहे हैं। बहुत जरूरी काम से ही लोग सड़कों पर निकल रहे हैं। नमाज कुरान की तिलावत या किसी प्रकार का नफील इबादत लोग अपने-अपने घरों पर ही कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.