• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Racket busted : दलालों के रैकेट का पर्दाफाश , दलालों के चंगुल से 31 लड़कियों को बचाया पुलिस…

1 min read

Racket busted : दलालों के रैकेट का पर्दाफाश , दलालों के चंगुल से 31 लड़कियों को बचाया पुलिस…

NEWSTODAYJ लातेहार : झारखंड में काम दिलाने के बहाने लड़कियों को राज्य से बाहर भेजने वाले दलालों के रैकेट का पर्दाफाश हुआ है। यह मामला लातेहार के बालूमाथ थाना क्षेत्र के डेढा गांव के अंतर्गत नवाबांध से जुड़ा है, जहां से पुलिस ने बुधवार को विशेष बस द्वारा तमिलनाडु ले जाए जा रहे दलालों के चंगुल से 31 लड़कियों को बचाया।पुलिस सूत्रों ने बताया है कि लड़कियों को राज्य से बाहर भेजने के इस काम में इलाके के कई दलाल सक्रिय हैं।

यह भी पढ़े…Indian Railways : त्योहारी सीजन में कुल 22 कोच , झारखंड और बंगाल के यात्रियों के लिए खुशखबरी , जल्द दौड़ेगी ट्रेनें…

लड़कियों को भेजने के बदले उन्हें मोटी रकम भी मिल रही है। उन्होंने कहा कि गुप्त सूचना के आधार पर, बालूमाथ पुलिस ने एक तमिलनाडु नंबर की बस में 31 लड़कियों और महिलाओं को बचाया। थ्रेड मिल में नौकरी का वादा करके सभी लड़कियों को झारखंड से चेन्नई ले जाया जा रहा था।बालूमाथ जोनल अधिकारी रवि कुमार ने बताया कि लड़कियों को चेन्नई के कृष्णा धागा मिल में लेटहार, लोहरदगा, रांची, पलामू सहित कई जिलों में ले जाया जा रहा था।

यह भी पढ़े…Corinavirus : पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 78,524 नए मामले सामने आए और 971 मौतें हुईं…

पुलिस ने बताया कि पकड़े गए बस के चालक और परिचालक दोनों को हिंदी नहीं आती है। इसके कारण, वे स्पष्ट रूप से यह नहीं बता पा रहे हैं कि वे किस कंपनी के लिए लड़कियों को ले रहे हैं। अवैध रूप से निकाली जा रही लड़कियों को बालूमाथ के कस्तूरबा गर्ल्स स्कूल में रखा गया है और मामले की जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.