• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Pranab Mukherjee’s tribute : पूर्व राष्ट्रपति स्वर्गीय प्रणव मुखर्जी जी को DAV परिवार के तरफ से अश्रुपूरित श्रंद्धाजलि…

1 min read

Pranab Mukherjee’s tribute : पूर्व राष्ट्रपति स्वर्गीय प्रणव मुखर्जी जी को DAV परिवार के तरफ से अश्रुपूरित श्रंद्धाजलि…

NEWSTODAYJ : पाकुड़। स्थानीय विद्यालय डी ए वी पब्लिक स्कूल के प्रांगण में देश के पूर्व राष्ट्रपति एवं लोकप्रिय राजनेता स्वर्गीय प्रणव मुखर्जी जी को डी ए वी परिवार के तरफ से अश्रुपूरित श्रधांजलि दी गयी। विद्यालय के बहुउद्देश्यीय भवन में समाजिक दूरी का पालन करते हुए प्राचार्य डॉ विजय कुमार एवं शिक्षकों द्वारा इनके आत्मा शान्ति हेतु दो मिनट का मौन रखा गया।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : ताला तोड़कर आधा किलो चांदी , 20 हजार नगद चोर ले भागे , पुलिस पहुच छानबीन में जुटी…

तत्पश्चात प्राचार्य डॉ कुमार एवं शिक्षकों द्वारा इनके तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर श्रधांजलि दी गयी। प्राचार्य ने अपने संबोधन में बताया कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में लंबे समय तक संकट मोचक के रूप में रहे प्रणव दा के निधन पर पूरा देश दुखी है। उन्होंने राजनीति एवं सामाजिक क्षेत्र के हर तबक़े की सेवा की है।

यह भी पढ़े…Supreme Court Moratorium Hearing : लोन के पुनर्भुगतान पर रोक 2 साल तक बढ़ सकती है , सुप्रीम कोर्ट से केंद्र , बुधवार को सुनवाई होगी…

उन्होंने अपने राजनीतिक करियर के दौरान आर्थिक एवं सामरिक क्षेत्र में अपना योगदान दिया। वह असाधारण विवेक के धनी थे तथा 5 दशक के सार्वजनिक जीवन मे अनेकों उच्च पदों पर आसीन रहते हुए भी वे सदैव जमीन से जुड़े रहे। अपने सौम्य एवं मिलनसार स्वभाव के कारण राजनीतिक क्षेत्र में वे सर्वप्रिय थे।

यह भी पढ़े…Unlock-4 : पांच महीने के बाद होटल खुलने से संचालको में खुशी का लहर , श्रद्धालुओं को मिलेगी राहत…

उन्होंने भारत माता की सेवा एक संत की तरह की। देश के विलक्षण सपूत के चले जाने से सारा राष्ट्र शोकाकुल है। प्रणव दा के स्वर्गवास के बारे में सुनकर हृदय को आघात पहुंचा। उनका देहावसान एक युग की समाप्ति है। श्री प्रणव मुखर्जी के परिवार, मित्रजनों और सभी देशवासियों के प्रति प्राचार्य ने गहन शोक संवेदना व्यक्त की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.