Political News:हेमंत सरकार के दो साल पूरे होने पर हो रहे कार्यक्रम से नदारद रही बीजेपी,हेमंत सरकार के खिलाफ बीजेपी ने सोशल मीडिया पर चलाया अभियान

0

NEWSTODAYJ_रांची: एक तरफ हेमंत सरकार के दो साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एतिहासिक मोरहाबादी मैदान में उपलब्धि गिना रहे थे तो वहीं दूसरी ओर विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के नेता और कार्यकर्ता सोशल मीडिया के जरिए सरकार की नाकामी गिनाने में जुटे रहे.

 

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

हेमंत सरकार के खिलाफ बीजेपी का अभियान

प्रदेश भाजपा द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी, विधायक, सांसद, सहित अन्य जनप्रतिनिधि, जिलों के अध्यक्ष, पदाधिकारी, मोर्चा के पदाधिकारी सहित सभी वरिष्ठ नेता सुबह 11बजे से फेसबुक लाइव के माध्यम से राज्य सरकार के दो साल की विफलताओं को जनता के बीच ले जा रहे थे.

 

 

यह भी पढ़े….Political News:राज्य सरकार के 2 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर आयोजित होंगे कई कार्यक्रम,मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को किया आमंत्रित

हाईटेक तरीके से हुए इस विरोध को सफल बताते हुए भाजपा मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक ने कहा कि पार्टी सरकार की नाकामियों को जनता तक ले जाने के लिए लगातार कार्यक्रम आयोजित कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार के 2 वर्ष झूठ और लूट में बीता है, जिसे जनता जानती है.

मोरहाबादी मैदान कार्यक्रम में नहीं पहुंचे भाजपा नेता

हेमंत सरकार के दो साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम से भाजपा नेता नदारद दिखे. कार्यक्रम को लेकर छपे आमंत्रण पत्र में भाजपा विधायक सीपी सिंह, विधायक समरीलाल, विधायक नवीन जायसवाल, मेयर आशा लकड़ा, रांची सांसद संजय सेठ का नाम छपा हुआ था. इन्हें आमंत्रित भी किया गया था. इसके अलावे भाजपा के दो दर्जन से अधिक नेताओं को आमंत्रण दी गई थी. मगर कार्यक्रम के दौरान एक भी नेता मौजूद नहीं थे.

 

 

भाजपा मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक ने कहा कि कार्यक्रम के दौरान सरकार अपनी झूठ का पुलिंदा ही गिना रही थी. अपनी विफलताओं को रखने का हिम्मत उनमें नहीं है इसलिए भाजपा नेता ने ऐसे समारोह में जाना उचित नहीं समझा. उन्होंने कहा कि सरकार ने एक बार फिर इस कार्यक्रम के जरिए जनता की गाढ़ी कमाई के करोड़ों रुपये पानी की तरह बहाया जबकि हकीकत यह है कि उपलब्धि के नाम पर जनता को बताने के लिए सरकार के पास कुछ भी नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here