• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Political news:बीजेपी और जदयू की डबल इंजन की सरकार हुई फेल,विकास नहीं बर्बादी के रास्ते पर ले जा रही डबल इंजन की सरकार,पढ़े पूरी रिपोर्ट

1 min read

NEWSTODAYJ_पटनाः बिहार में एनडीए की सरकार में डबल इंजन (Bihar Double Engine Government) के सहारे तेज रफ्तार के साथ विकास का दावा किया गया था, नीति आयोग की रिपोर्ट ने बिहार के हाल-ए-सूरत को आईना दिखा दिया. सीएजी की रिपोर्ट के मुताबिक (CAG Report Bihar) बिहार में 2 लाख करोड़ रुपये के खर्च के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली.

 

ऐसे में विपक्ष के दावे कहीं ना कहीं इस बात की आशंका पैदा कर रहे हैं कि क्या बिहार में सचमुच डबल नहीं बल्कि ट्रबल इंजन की सरकार है. पिछले साल जब बिहार में बीजेपी और जदयू ने हम और वीआईपी के साथ मिलकर सरकार बनाई तो यह दावा किया गया था कि डबल इंजन की सरकार तेजी से विकास कार्य करेगी, लेकिन पिछले एक साल में कई बार ऐसे मौके आए हैं, जब बीजेपी और जदयू के साथ साथ वीआईपी और हम ने भी गठबंधन में एक दूसरे को आंख दिखाई. इन सब के बीच दो मुख्य दल भाजपा और जदयू के बीच भी 36 का आंकड़ा रहा.मुद्दों की बात करें तो जातीय जनगणना सबसे ताजातरीन मुद्दा है जिस पर भाजपा और जदयू एकमत नहीं हैं. एक तरफ तेजस्वी समेत विपक्ष के कई दलों ने जदयू के साथ मिलकर जातीय जनगणना की मांग उठाई है. दूसरी तरफ बीजेपी इस मुद्दे से किनारा करना चाहती है. इसके अलावा राम मंदिर मुद्दा, सीएए और एनआरसी के अलावा आर्टिकल 370 पर भी जदयू की राय बीजेपी से अलग रही है.

 

बिहार में डबल इंजन की सरकार पर सियासत

 

विपक्ष का दावा है कि दोनों दल के बीच कुछ भी ठीक नहीं और यह डबल नहीं बल्कि ट्रबल इंजन (Differences in BJP JDU in Bihar) है जो बिहार को बर्बादी के रास्ते पर ले जा रहा है. इस बात की पुष्टि नीति आयोग की रिपोर्ट ने भी की है जिसमें बिहार को अन्य राज्यों की तुलना में विकास के कई पैमानों पर पिछड़े राज्यों में शुमार किया गया है.

 

यह भी पढ़े…..Political news:कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का कहना है कि राज्य में महंगाई, बेरोजगारी और किसानों की समस्याएं है

इन सब के बीच पूर्व विधायक और राजद के प्रदेश प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव ने कहा कि पिछले 15 साल में दो लाख करोड़ रुपए कहां गए इसका जवाब सीएजी को अब तक बिहार सरकार नहीं दे पाई है. इधर नीति आयोग भी बिहार को हर मायने में फिसड्डी घोषित कर चुका है. शक्ति सिंह यादव ने कहा कि बिहार में ही ऐसा अनूठा काम होता है, जहां बीजेपी और जदयू की सरकार पिछले 15 साल से है और इस सरकार में चूहे बांध कुतर देते हैं और शराब भी गटक जाते हैं.

राजद नेता ने कहा कि बीजेपी और जदयू मिलकर बिहार को बर्बादी के रास्ते पर ले जा रहे हैं और यही वजह है कि हम इसे डबल नहीं बल्कि ट्रबल इंजन कहते हैं.इधर, कांग्रेस नेता भी बीजेपी और जदयू के गठबंधन को बिहार की बर्बादी का गठबंधन मानते हैं. कांग्रेस नेता राजेश राठौड़ ने कहा कि बिहार में एक नहीं दो मुख्यमंत्री चाहिए. एक मुख्यमंत्री ऐसा जो शराब बंदी लागू कराए और दूसरा जो बाकी विकास कार्यों को संचालित कर सके. क्योंकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शराबबंदी का नाटक कर रहे हैं और इधर बिहार को गर्त में ढकेल रहे हैं.

इधर, एनडीए नेता इसे विपक्ष की बेचैनी बता रहे हैं. भाजपा नेता संजय सिंह टाइगर ने कहा कि पिछले 15 साल से ज्यादा बिहार में बीजेपी और जदयू की सरकार चल रही है और उसके कहीं पहले से बीजेपी और जदयू के संबंध रहे हैं। भाजपा नेता ने दावा किया कि दोनों दलों के बीच बेहतर समन्वय और तालमेल से सरकार चल रही है इस सरकार में जितने विकास कार्य हुए हैं उतने शायद ही किसी और सरकार के कार्यकाल में हुए हों.

यह भी पढ़े….Political news:विधायक का विवादित बयान,कहा मुख्यमंत्री नशा करते है..

 

हाल ही में विधान मंडल के शीतकालीन सत्र में कुछ ऐसे मुद्दे सामने आए जिसने जाहिर तौर पर सीधे सीधे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कार्यशैली पर खड़ा किया. इंजीनियर के भ्रष्टाचार के मामले को संजय सरावगी ने उठाया जिस पर सरकार के मंत्री जवाब नहीं दे सके और इसे लेकर स्पीकर ने विधानसभा सदस्यों की कमेटी की बना दी. इधर मुख्यमंत्री के एक बयान को लेकर भाजपा विधायक निक्की हेम्ब्रम ने जिस तरह सवाल खड़े किए उसने भी यह सोचने को मजबूर कर दिया कि दोनों दलों के बीच सब कुछ ठीक नहीं है.हालांकि, जदयू के मुख्य प्रवक्ता इसे कोई बड़ा मुद्दा नहीं मानते है. नीरज कुमार ने कहा कि विधानसभा में विधायक सरकार से सवाल पूछते हैं और इसका जवाब सरकार देती है. यह कोई बड़ी बात नहीं है. वहीं, दोनों दलों के बीच के विवाद के सवाल पर उन्होंने कहा कि अगर यह सोचकर किसी के पेट में दर्द हो रहा है, तो उसका कोई फायदा नहीं है. यहां (एनडीए में) सब ठीक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.