• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

PM केयर्स फंड से 2000 करोड़ की लागत से बनेंगे 50 हजार वेंटिलेटर्स

1 min read

PM केयर्स फंड से 2000 करोड़ की लागत से बनेंगे 50 हजार वेंटिलेटर्स

NEWSTODAYJ– हमारा देश कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लोगो से पीएम केयर्स फंड मे दान देने की अपील की थी. लोगो ने अपने सामर्थ्य के हिसाब से दान भी दिया. पर राजनितिक पार्टियों द्वारा PM CARES FUND को लेकर उठ रहे सवालों के बीच सीडीडीईटी (CDDET) की एक रिपोर्ट में कई अहम जानकारियां दी गई हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम केयर्स फंड से देश में अब तक 50 हजार वेंटिलेटर्स तैयार किए जा रहे हैं. इनमें से 2,923 वेंटिलेटर्स बन चुके हैं.सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के सरकारी अस्पतालों में मेड इन इंडिया के तहत तैयार इन वेंटिलेटर्स के लिए पीएम केयर्स फंड से 2000 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं. वहीं, प्रवासी मजदूरों के कल्याण से जुड़े प्रोजेक्ट में 1000 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं.

द सेंटर फॉर डिसीज डायनेमिक्स, इकोनॉमिक्स एंड पॉलिसी की रिपोर्ट में बताया गया है कि पीएम केयर्स फंड का पैसा कहां-कहां खर्च हुआ और इसे देश में कोरोना की लड़ाई के लिए किन संसाधनों में लगाया गया.

ये भी पढ़े…

सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में मार गिराए 2 आतंकी- एक जवान के शहीद होने की भी खबर

अब तक 1340 वेंटिलेटर्स राज्यों और केंद्रीय प्रदेशों में भेजे जा चुके हैं. महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान वेंटिलेटर्स की सप्लाई की गई है. जून के आखिर तक सभी राज्यों में 14000 अतिरिक्त वेंटिलेटर्स की सप्लाई करने का लक्ष्य तय किया गया है.कुल 50 हजार वेंटिलेटर्स में से 30 हजार वेंटिलेटर्स भारत इलेक्ट्रॉनिक्स (M/s Bharat Electronics Limited) ने बनाए हैं. बाकी के 20 हजार वेंटिलेटर्स तीन कंपनियों ने मिलकर बनाए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.