• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Maoists against self-reliance : माओवादियों ने केंद्र सरकार की आत्मनिर्भर योजना के खिलाफ लगाए पोस्टर…

1 min read

Maoists against self-reliance : माओवादियों ने केंद्र सरकार की आत्मनिर्भर योजना के खिलाफ लगाए पोस्टर…

NEWSTODAYJ : चतरा के राजपुर थाना क्षेत्र के राजपुर बाजार में प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा (माओवादी) ने पोस्टर चिपकाकर दहशत फैला दी, जिसमें संगठन ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए उसकी आत्मनिर्भर भारत योजना को महज ‘लॉलीपॉप’ बताया है।पुलिस सूत्रों ने बताया कि

यह भी पढ़े…District president : अल्पसंख्यक विभाग कांग्रेस के जिला अध्यक्ष साहिन परवेज बने…

माओवादियों ने पोस्टर चिपका कर जनता से सरकार के दिवास्वप्न में नहीं पड़ने की बात कही है।माओवादियों द्वारा क्षेत्र में पोस्टरबाजी की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पोस्टर हटा दिये। राजपुर थाना क्षेत्र के सर्वाधिक नक्सल प्रभावित केंदुआ सहोर गांव में माओवादियों के नाम पर पोस्टर लगाए गए थे।

यह भी पढ़े…Illegal stone traders : अवैध पत्थर कारोबारियों पर चला पुलिस का डंडा, चार हाइवा जब्त…

12 घंटे के अंदर दूसरी बार है प्रतिबंधित माओवादी संगठन की ओर से पोस्टर लगाए गए हैं।राजपुर थाने से मामूली दूरी पर स्थित राजपुर बाजार में पोस्टर चिपकाकर माओवादियों ने पुलिस को खुली चुनौती दी है।जिले का राजपुर थाना क्षेत्र बिहार और झारखंड का सीमावर्ती इलाका है।

यह भी पढ़े…Mann Ki Baat : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे मन की बात 25 अक्टूबर को ट्वीट कर लोगों को दी जानकारी…

नक्सल प्रभावित क्षेत्र के रूप में यह इलाका पूर्व से ही चिन्हित रहा है।ज्ञात हो कि क्षेत्र में दो बार हुए माओवादी हमले में एक दर्जन से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है।काफी अरसे तक यह इलाका नक्सली गतिविधियों को लेकर शांत रहा।लेकिन पोस्टरबाजी की घटना के बाद क्षेत्र में किसी अनहोनी की आशंका से दहशत का वातावरण बन गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.