Mann Ki Baat : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे मन की बात 25 अक्टूबर को ट्वीट कर लोगों को दी जानकारी…

Mann Ki Baat : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे मन की बात 25 अक्टूबर को ट्वीट कर लोगों को दी जानकारी…

NEWSTODAYJ नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने प्रसिद्ध रेडियो कार्यक्रम मन की बात के लिए लोगों से अपील की है।बता दें प्रधानमंत्री मोदी साल 2019 में दोबारा चुने जाने के बाद अब तक मन की बात 2.0 के 16 एपिसोड कर चुके हैं।इस महीने के आखिरी रविवार यानी 25 अक्टूबर को मन की बात कार्यक्रम की यह 17वीं कड़ी होगी।इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जानकारी दी है।

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

यह भी पढ़े…Jharkhand News : पानी निकलने गए एक व्यक्ति नाला में गिरजाने से मृत्यु हो गई , शव नाला में फसा रहा…

प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘मन की बात’ नागरिकों की प्रेरक यात्राओं को साझा करने और उन विषयों पर चर्चा करने का एक बड़ा अवसर प्रस्तुत करती है जो शक्ति सामाजिक परिवर्तन करते हैं।पीएम ने कहा कि ‘इस महीने का कार्यक्रम 25 तारीख को होगा।आप अपने विचार NaMo App, MyGov पर शेयर करें या अपना संदेश रिकॉर्ड करें।रेडियो कार्यक्रम मन की बात के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक जानकारी दी गई कि ‘महत्वपूर्ण सूचना! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस महीने की 25 तारीख़ को देशवासियों के संग मन की बात साझा करेंगे।

यह भी पढ़े…Narcotics : जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए नशीले पदार्थ की बिक्री पर नाराजगी जतायी – हाईकोर्ट…

इससे पहले मोदी ने 27 सितंबर को अपने “मन की बात” संबोधन में कहा था कि कोविड संकट के दौरान, देश के किसानों ने शानदार सहनशीलता का परिचय दिया है।प्रधानमंत्री ने कहा था कि यदि कृषि क्षेत्र मजबूत रहेगा, तो आत्मनिर्भर भारत की नींव मजबूत रहेगी।उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में, यह क्षेत्र कई प्रतिबंधों से मुक्त हुआ है और इसने कई मिथकों से भी मुक्त होने की कोशिश की है।इस दौरान पीएम मोदी ने कहा था कि कहानियों का इतिहास उतना ही पुराना है।

यह भी पढ़े…Gang rape : बॉयफ्रैंड के साथ सुनसान इलाके में गई थी प्रेमिका , बंदूक की नोक पर कुछ युवकों ने किया गैंगरेप…

जितनी कि मानव सभ्यता और कहा कि ‘जहां कहीं भी आत्मा है, वहीं एक कहानी है।उन्होंने परिवार के बुजुर्ग सदस्यों द्वारा कहानी कहने की परंपरा के महत्व पर चर्चा की। उन्होंने चर्चा की कि उनकी यात्राओं के दौरान बच्चों के साथ उनकी परस्पर बातचीत के द्वारा उन्होंने महसूस किया कि चुटकुले व्यापक तरीके से उनके जीवन में समाहित हो गए थे ओर उनका कहानियों से कोई परिचय ही नहीं था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here