• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

J&K New laws : केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के लोगों की भूमि के अधिकारों की रक्षा के लिए एक नए कानून पर विचार विमर्श कर रही..

1 min read

J&K New laws : केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के लोगों की भूमि के अधिकारों की रक्षा के लिए एक नए कानून पर विचार विमर्श कर रही..

  • ऐसा इसलिए क्‍योंकि अनुच्छेद 370 के खात्‍मे के बाद सूबे के लोगों की चिंताओं को दूर किया जा सके।
  • जम्मू-कश्मीर के लोगों के भूमि अधिकारों के लिए नए कानून लाने पर काम चल रहा है। इससे इनकी चिंताएं दूर हो जाएंगी।

NEWSTODAYJ नई दिल्ली : केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के लोगों की भूमि के अधिकारों की रक्षा के लिए एक नए कानून को लाने पर विचार कर रही है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि अनुच्छेद 370 के खात्‍मे के बाद सूबे के लोगों की चिंताओं को दूर किया जा सके। आधिकारिक सूत्रों की मानें तो इस बारे में विधेयक संसद सत्र में पेश किए जाने की संभावना है। एक अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के लोगों के भूमि अधिकारों के लिए नए कानून लाने पर काम चल रहा है। इससे इनकी चिंताएं दूर हो जाएंगी।

यह भी पढ़े…SSR Death Case Investigation : रिया के साथ ईडी की पूछताछ में खुलासा, एक्ट्रेस ने छिपाया अपना एक फोन नंबर…

अधिकारी ने बताया कि इस कानून के संसद में पास होने से जम्मू-कश्मीर में जमीन पर अधिकार खोने का वहां के लोगों का डर दूर हो जाएगा। चूंकि जम्मू-कश्मीर के दो भागों में बंटने के बाद से कोई चुनाव नहीं हुआ है जिसकी वजह से राज्‍य का अभी कोई विधानमंडल नहीं है इसलिए उक्‍त विधेयक संसद में लाया जाएगा। बता दें कि केंद्र सरकार ने पिछले साल पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 को निरस्त कर दिया था। साथ ही जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख में बांट दिया था।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : पांच सूत्री मांगों को लेकर मनरेगाकर्मियों से सौपा विधायक रामचंद्र सिंह को ज्ञापन…

इस बदलाव के चलते भूमि या अचल संपत्ति और नौकरियों पर स्थानीय लोगों के विशेषाधिकार खत्‍म हो गए थे। यही नहीं देश विरोधी तत्‍वों द्वारा जम्मू-कश्मीर के लोगों में बाहरी लोगों के आकर बसने का भय भी पैदा किया गया था। हालांकि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर के लिए नए अधिवास नियम पर अपने आदेश को घाटी में विरोध के मद्देनजर संशोधन के एक हफ्ते के भीतर ही पलट दिया था। संशोधित आदेश के मुताबिक, अधिवास प्रमाणपत्र रखने वाले निवासियों को ही वहां नौकरियों में भर्ती के लिए आवेदन की इजाजत होगी।

यह भी पढ़े…Coronavirus Bengal Update : बंगाल में कोरोना आज 2939 नए मामले, 54 की मौत , संक्रमितों का आंकड़ा 95 हजार के पार…

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में 15 वर्षोंं से रह रहे लोगों को नागरिकता का अधिकार दिया जा रहा है। सरकारी अधिसूचना में यह भी पहले से ही बता दिया है कि जो व्यक्ति 15 साल से अधिक समय तक प्रदेश में रह चुका है उसे डोमिसाइल का अधिकार होगा। केंद्र सरकार के कर्मचारियों, जिन्होंने पांच अगस्त 2019 से पूर्व 10 साल अपनी सेवाएं दी हैं, उन्हें भी डोमिसाइल के अधिकार होंगे।

यह भी पढ़े…Coronavirus Bengal Update : बंगाल में कोरोना आज 2939 नए मामले, 54 की मौत , संक्रमितों का आंकड़ा 95 हजार के पार…

हाल ही में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के पद से गिरीश चंद्र मुर्मू के इस्तीफे के बाद मनोज सिन्हा की इस पद पर नियुक्ति हुई है। मनोज सिन्हा एक अनुभवी नेता हैं जिनके पास मंत्री के रूप में ढेर सारा प्रशासनिक अनुभव है।

यह भी पढ़े…Coronavirus Jharkhand Update : झारखंड में आज 512 कोरोना मरीज मिले, 9 लोगो की मौत , 447 मरीज स्‍वस्‍थ भी हुए…

प्रधानमंत्री मोदी के पहले कार्यकाल में वह रेल राज्य मंत्री रहे और बाद में उन्हें संचार मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार भी सौंपा गया था। उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को अस्‍पतालों में नर्सों की कमी को देखते हुए दो सौ नर्सिंग स्‍टाफ की तत्काल नियुक्ति करने के निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें