• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Jharkhand News : शिबू सोरेन आज अपना 77वां जन्‍मदिन पर जीवनी पर आधारित 3 किताबों का मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने लोकार्पण किया…

1 min read

Jharkhand News : शिबू सोरेन आज अपना 77वां जन्‍मदिन पर जीवनी पर आधारित 3 किताबों का मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने लोकार्पण किया…

NEWSTODAYJ रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष शिबू सोरेन आज अपना 77वां जन्‍मदिन मना रहे हैं।इस मौके उनकी जीवनी पर आधारित 3 किताबों का मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने लोकार्पण किया।पत्रकार अनुज कुमार सिन्हा ने ये किताबें लिखी हैं और इनका प्रकाशन नई दिल्ली की एक संस्था ने किया है।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : 2018 बाजार भाव की सामग्री एवं मजदूरी दर तथा विभिन्न प्रकार के टैक्स के अनुसार तैयार किया…

रांची के मोरहाबादी स्थित आर्यभट्ट ऑडिटोरियम में आयोजित समारोह में इन किताबों का विमोचन हुआ। किताबों के नाम हैं- दिशोम गुरु: शिबू सोरेन (हिंदी), ट्राइबल हीरो: शिबू सोरेन (अंग्रेजी में) और सुनो बच्चों, आदिवासी संघर्ष के नायक शिबू सोरेन (गुरुजी) की गाथा.इस मौके पर शिबू सोरेन ने कहा कि मेरे जीवन पर किताब लिखा गया है।मुझे पता है क्या लिखा होगा।महाजनी आंदोलन पर लिखा गया है।आंदोलन भी किया और अंत भी किया।अलग झारखंड का आंदोलन किया और राज्य अलग हुआ।लेकिन गांव में रह रहे आदिवासी आज भी शोषित और दुखी हैं।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : ट्रैफिक पुलिस के द्वारा लगातार सघन वाहन चेकिंग अभियान , वाहन चालकों में हड़कंप…

उन्होंने कहा कि प्रयास बोलने से नहीं करने से होगा। अब जंगल बचाओ और खेती बचाओ आंदोलन करना पड़ेगा।सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि पीड़ा दायक संघर्ष की उपज है झारखंड।यहां के लोगों में अजीब सा जुनून और संघर्ष की परंपरा रही है. देश की आजादी से पहले से यहां के लोगों के संघर्ष का इतिहास रहा है।आज इस राज्य की आंतरिक क्षमता और बाह्य क्षमता को करीब से देख रहा हूं।जल, जंगल, जमीन, परिवार और खेती-बाड़ी के सपने को कैसे साकार किया जाए, सरकार इस पर काम कर रही है।राज्य में क्षमता की कमी नहीं, चेतना की कमी है।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : शहर के व्यस्ततम इलाके बैंक मोड में सड़क पर कथित लोगों द्वारा नगर निगम के नाम पर अवैध पार्किंग और वसूली…

चेतना जगा पाए तो झारखंड आने वाले समय में देश के अग्रणी राज्य में शामिल होगा।सीएम ने कहा कि झारखंड छोटा प्रदेश है, लेकिन यहां रहने वाले हर वर्ग और समुदाय में शक्ति मौजूद है।देश टाटा- बिड़ला के नाम से जाना जाता था और वे यही से हैं।कुछ घटनाएं घटती हैं, तो इसके लिए हमसब जिम्मेवार हैं। इस राज्य की सबसे खास बात ये है कि यहां के सीधा- सादा और संतोष वाले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें