Jharkhand news : झारखंड के तमाम धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया , श्रद्धालुओं में खुशी की लहर

Jharkhand news : झारखंड के तमाम धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया , श्रद्धालुओं में खुशी की लहर…

NEWSTODAYJ रांची : सरकारी आदेश और गाइडलाइन के मुताबिक आज से झारखंड के तमाम धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया है।इसी को लेकर राजधानी की मस्जिदों में भी नमाज की तैयारी चल रही है।राजधानी रांची के कडरू स्थित मदरसा मस्जिद में कमेटी के लोग नमाज की तैयारियों में मशगूल हैं।वहीं, कमिटी ने कहा कि यह काफी खुशी की बात है कि आज से मस्जिदें गुलजार होगी लेकिन साथ ही साथ

यह भी पढ़े…Dhanbad News : सदर व एसएसएलएनटी अस्पताल को दिया साबुन और मास्क…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

कोविड-19 की वजह से सावधानी रखी जाएगी। आपको बता दें कि हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाली झारखंड सरकार ने 1 अक्टूबर को मंदिरों को खोलने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए थे। राज्य सरकार ने कुछ प्रतिबंधों के साथ दुर्गा पूजा मनाने की भी अनुमति दी है।अधिकारियों ने बुधवार को राज्य के महत्वपूर्ण मंदिरों का दौरा किया और भक्तों के लिए दिशानिर्देश जारी किए।रामगढ़ जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बुधवार को मां छिन्नमस्तिका मंदिर का दौरा किया।

यह भी पढ़े…Traffic problem : जाम की समस्या से यहां की जनता काफी परेशान , यातायात व्यवस्था दुरुस्त नहीं…

और मंदिर को फिर से खोलने की तैयारियों को लेकर समीक्षा की,वहीं, दिशानिर्देशों के अनुसार, मास्क के बिना किसी भी भक्त को मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी और भक्त को अपने साथ सैनिटाइजर ले जाना होगा।वहीं एक वक्त में सिर्फ पांच भक्तों को ही गर्भ गृह में जाने की अनुमति दी जाएगी।

यह भी पढ़े…Bye election : झारखंड राज्य में उप चुनाव की गहमागहमी, सत्ताधारी दलों को सीट बचाने की चिंता…

सुबह की प्रार्थना के बाद मंदिर खोला जाएगा।मंदिर परिसर में एक समय में अधिकतम 100 लोगों को अनुमति दी जाएगी, जबकि परिसर में प्रवेश के लिए कतार में सिर्फ 150 भक्तों को ही अनुमति दी जाएगी।शिव मंदिर में भक्तों को शिवलिंग को छूने की अनुमति नहीं होगी. लोगों को सिर्फ ‘अर्ध्य’ प्रणाली के माध्यम से दूर से जल चढ़ाने की अनुमति दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here