Jharkhand News : कृषि मंत्री ने भू रैयतों के समस्याओं से हुए अवगत , BJP पर जमकर कसा तंज…

1 min read

Jharkhand News : कृषि मंत्री ने भू रैयतों के समस्याओं से हुए अवगत , BJP पर जमकर कसा तंज…

NEWSTODAYJ : चतरा के टंडवा एनटीपीसी प्रबंधन से तीन सूत्री मांग को लेकर एक महीने से छह गांव के विस्थापित भू रैयत अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन पर बैठे है ! इनकी समस्याओ से कृषि मंत्री बादल पत्रलेख अवगत होने धरना प्रदर्शन स्थल टंडवा पहुंचे ! धरना स्थल में मौजूद सभी रैयतों से मिलकर उनकी मांग व समस्याओं से अवगत हुए तथा चतरा सांसद और सिमरिया विधायक पर गांव वासियों को छलने का आरोप लगाया है ।

यह भी पढ़े…Coronavirus India Report : देश में पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 12,923 नए COVID-19 केस, 108 की मौत…

कृषि मंत्री ने कहा कि भाजपा सांसद सुनील सिंह और विधायक किसुन दास गरीबों की मदद के बजाय उद्योगपतियों के लिये काम करने का आरोप लगाया है । मंत्री ने सांसद और विधायक का नाम लिए बगैर पत्रकारों के एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि यहां के नेता गरीबों के बजाय कंपनियों के विकास की बात करते हैं। यही कारण है कि आंदोलन में इनका समर्थन रैयतों के बजाय कंपनियों के पक्ष में होता है। कृषि मंत्री ने साफ तौर पर कहा कि सरकार गरीबों के साथ है। ऐसे में उन्हें उनके अधिकारों से कोई वंचित नहीं कर सकता। अगर अधिकारी गरीबों की बात नहीं सुनेंगे तो सरकार सख्त एक्शन लेगी। कृषि मंत्री ने प्रदेश की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार पर चुटकी लेते हुए कहा कि अब वह समय नहीं है कि लोग धरना प्रदर्शन के बाद अधिकारियों के माध्यम से सरकार को पत्र भेजते थे।

यह भी पढ़े…Socialist Leader : भाजपा के महात्मा गांधी’ कहे जाने वाले दीनदयाल उपाध्याय की रहस्यमयी मौत ,आंदोलन को खामोश कर दिया, जो कांग्रेस के खिलाफ , ज़ोर-शोर से उठा था…

बल्कि अब सरकार सीधे गरीबों के बीच पहुंच कर उनकी समस्याओं से अवगत हो रही है। मंत्री ने आंदोलित विस्थापित गांव के रैयतों की समस्याओं का निराकरण करने की बात कही है ! उन्होंने यह भी कहा कि जायज मांगो को जल्द पूरा किया जाएगा । कंपनी के गलत नीतियों के वजह से लम्बे समय से धरना पर बैठे ग्रामीणों को जल्द सीएम के साथ वार्ता कराई जाएगी। ताकि गरीबों को उनका हक और अधिकार मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.