Jharkhand News : धनबाद के मरीज की मौत के बाद डॉक्टरों ने उसके परिजन को पीटा, जूनियर डॉक्टरों ने कहा- अटेंडेंट ने की थी बदतमीजी…

Jharkhand News : धनबाद के मरीज की मौत के बाद डॉक्टरों ने उसके परिजन को पीटा, जूनियर डॉक्टरों ने कहा- अटेंडेंट ने की थी बदतमीजी…

NEWSTODAYJ रांची : रिम्स अस्पताल में सोमवार की रात एक मरीज की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ। मृतक के परिजन ने डॉक्टरों पर मारपीट का आरोप लगाया तो जूनियर डॉक्टरों ने मृतक के परिजन पर बदतमीजी करने और कपड़े फाड़ने का आरोप लगाया। मंगलवार सुबह मृतक के परिजनों ने रिम्स इमरजेंसी गेट के सामने धरना दिया तो जूनियर डॉक्टरों ने काला बिल्ला लगाकर प्रदर्शन किया और रिम्स अधीक्षक से अपने लिए सुरक्षा की मांग की।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : 5 दुकानों में लगी आग, लाखों की संपत्ति जल कर खाक…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

इससे पहले जूनियर डॉक्टरों की ओर से बरियातू थाना में मृतक के परिजन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए आवेदन भी दिया। फिलहाल, मामला शांत हो गया है।बरियातू थाना में दिए गए आवेदन में डॉक्टरों की ओर से कहा गया है कि रिम्स में धनबाद तिसरा के मरीज को भर्ती किया गया था। मरीज की हालत गंभीर थी। मरीज की स्थिति के बारे में परिजन को अच्छी तरह से बता दिया गया था। डॉक्टरों ने आवेदन में कहा है कि मरीज का इलाज अच्छे तरीके से हो रहा था। इसके लिए मरीज के बीमारी से संबंधित विभाग से सलाह भी ली गई थी। सोमवार रात करीब 9 बजे मरीज की मौत हो गई। इसके बाद मरीज के महिला परिजन ने एक महिला डॉक्टर का कपड़ा फाड़ दिया।जूनियर डॉक्टरों ने बताया कि धनबाद के तिसरा निवासी 40 साल के प्रमोद सिंह नाम के मरीज को 12 अक्टूबर को रिम्स में भर्ती किया गया था।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : महिला सुरक्षा को लेकर झारखंड पुलिस ने अपना मास्टरप्लान योजना तैयार – डीजीपी…

उनको हार्ट और किडनी की बीमारी थी। किडनी और कार्डियो से दिखाया जा चुका था। मरीज ऑपरेशन की स्थिति में नहीं है। धनबाद मेडिका से इलाज के बाद यहां लाया गया था। डायलिसिस चल रहा था। मरीज की हालत खराब थी। सीनियर डॉक्टरों से कहा था कि कोशिश कर रहे हैं। मरीज के परिजन को भी पता था कि हालत गंभीर थी। लेकिन जैसे ही उन्हें मौत की खबर मिली वे हंगामा करने लगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here