• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Jharkhand News : बंद घरों में चोरो की: नजर चोरी की वारदात देकर फरार जांच में जुटी पुलिस…

1 min read

Jharkhand News : बंद घरों में चोरो की: नजर चोरी की वारदात देकर फरार जांच में जुटी पुलिस…

NEWSTODAYJ : रांची में हाल के दिनों में चोरी की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है। चोरी की ज्यादातर घटनाएं ऐसे समय में हुई हैं, जब घर में कोई नहीं होता है। हाल के दिनों में चोरों ने पुंदाग, गाड़ी गांव, डोरंडा, जगन्नाथपुर समेत कई इलाकों में चोरी को अंजाम दिया और कई स्थानों में चोरी का प्रयास किया, जिसमें असफल रहे। पिछले 6 माह से बंद घरों को निशाना बनाने का काम रुका हुआ था,

यह भी पढ़े…Dhanbad News : मैथन से धनबाद आने वाली क्षतिग्रस्त पाइप लाइन को मरम्मत करने का निर्देश – उपायुक्त…

लेकिन एक बार फिर चोर गिरोह जानबूझकर ऐसे घरों को निशाना बनाने लगे हैं। दरअसल इस तरह की चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले चोरों का एक बड़ा गैंग है, जो पहले कई इलाकों में घूमकर रेकी करता है। इस दौरान जिस घर में ताला लगा रहता है या घर अगर बंद मिलता है तो उन इलाकों में चोरों का गिरोह अपना हाथ साफ कर देता है। बीती रात ही चुटिया के कृष्णापुरी इलाके में चोरों ने एक बंद घर को निशाना बनाया। पिछले एक हफ्ते में रांची के तीन बंद घरों में चोरी हुई। वहीं पिछले दस महीने की बात करें तो केवल रांची में 1791 चोरी की घटनाएं सामने आई हैं।जिस तरह राजधानी में हाल के दिनों में चोरी की कई घटनाएं हुई हैं।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : स्पेशल रैपिड एंटीजन टेस्ट ड्राइव , 1143 की जांच में 0.44% (5) मिले पॉजिटिव…

इससे स्पष्ट होता है कि चोरी करनेवाला गिरोह भली-भांति इस बात से परिचित होता है कि घर में कोई नहीं है, क्योंकि ज्यादातर बंद घरों को अपराधी निशाना बन रहे हैं। गिरोह के लोग पहले इलाके में घूम कर रेकी करते हैं। जब उन्हें घर में किसी के नहीं होने की जानकारी मिलती है, तब ऐसे घरों को टारगेट कर वे रात में चोरी करते हैं और आराम से निकल जाते हैं। रांची में पिछले एक सप्ताह की बात करें तो चोरों ने तीन बन्द घरों को अपना निशाना बनाया और लाखों रुपए की चोरी करके फरार हो गए।राजधानी में चोरी की घटनाओं में हुई।

यह भी पढ़े…Cattle smuggling : पशु तस्करी का मुख्य सरगना युसूफ खान गिरफ्तार , एक ट्रक जब्त…

अप्रत्याशित वृद्धि से रांची पुलिस सकते में है। लेकिन चोरी की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। आए दिन चोर किसी ना किसी घर या दुकान को अपना निशाना बना रहे हैं और खुलेआम पुलिस को ठेंगा दिखा रहे हैं। राजधानी के लगभग सभी थाना क्षेत्रों का अमूमन हाल ऐसा ही है। पुलिस चोरी की वारदात के बाद जांच-पड़ताल में जुट तो जाती है, लेकिन चोरों तक पहुंच नहीं पाती है। इसलिए अब पुलिस जनता को ही सतर्क कर घटनाओं पर अंकुश लगाने की कवायद में जुट गई है।राजधानी में पिछले दिनों हुई चोरी की घटनाओं में जहां पुलिस को थोड़ी सफलता मिली थी, वहीं कई मामलों में अब भी पुलिस के हाथ खाली हैं। बाहर का गैंग इन दिनों राजधानी में सक्रिय है।

यह भी पढ़े…Cyber ​​criminals arrested : साइबर ठगी के खिलाफ पुलिस की लागतार सफलता , एक साथ 12 साइबर अपराधियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार…

जिससे चोरी की घटनाएं लगातार हो रही हैं। पुलिस फिलहाल उन चोरों को पकड़ने में लगी हुई है। रांची पुलिस समीक्षा बैठक कर घटनाओं पर अंकुश लगाने की कवायद में जुट गई है। साथ ही शहर के लोगों से भी पुलिस जागरूक रहने की अपील कर रही है, ताकि चोरी की घटनाओं में कमी आ सके। इसके बावजूद चोर अपने आतंक से सभी को परेशान किए हुए हैं। ऐसे में पुलिस के लिए ये चुनौती आसान नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.