Jharkhand News: सरकारी स्कूल का बदलेगा कायाकल्प, स्कूल ऑफ एक्सीलेंस के तहत हेमंत सरकार बदलेगी सरकारी स्कूलों की सूरत…..

 

NEWSTODAYJ_झारखंड:सरकारी स्कूलों को ‘स्कूल ऑफ एक्सिलेंस’ में परिवर्तित कर राज्य के छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की दिशा में एक ठोस कदम उठाया है. पहले चरण में राज्य के सभी जिलों के प्रस्तावित 80 स्कूलों को स्कूल ऑफ एक्सिलेंस (उत्कृष्ट स्कूल) में तब्दील किया जा रहा है।

 

इसके लिए शिक्षा विभाग ने टेंडर जारी कर दिया है. विभाग द्वारा शुरुआत में 27 स्कूलों के लिए टेंडर जारी किया गया है और शेष 53 स्कूलों के लिए जल्द ही टेंडर निकाला जाएगा. मुख्यमंत्री के विजन के अनुसार लगभग पांच हजार सरकारी स्कूलों को क्रमवार आधुनिक शिक्षा सुविधाओं से लैस किया जाएगा. इसका प्रारंभिक उद्देश्य 2022-23 शैक्षणिक सत्र के शुरू में जिलास्तर के 80 उत्कृष्ट स्कूलों तक लगभग दो लाख छात्रों को लाभ पहुंचाना है.

 

यह भी पढ़े….Jharkhand News: हेमंत सोरेन की पहल पर सीधी नियुक्ति के तहत 12 खिलाड़ियों को सौंपा जाएगा नियुक्ति पत्र

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होंगे स्कूल

 

सरकार ने सभी ‘स्कूल ऑफ एक्सिलेंस’ को विश्वस्तरीय शिक्षा प्रणाली का बनाने की योजना बनाई है. स्कूल में निर्बाध बिजली आपूर्ति, स्वच्छ वातावरण और स्मार्ट बोर्ड जैसी अन्य सुविधाएं होंगी. इन स्कूलों का विकास निजी स्कूलों के मॉडल पर किया जा रहा है और यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि गरीब बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा निजी स्कूलों की तरह मिल सके।

 

इसे देखते हुए हर स्कूल में अलग-अलग लैब, लाइब्रेरी और एसटीईएम लैब की स्थापना की जाएगी. स्कूलों में साफ-सफाई और शौचालय की सुविधा नहीं होने के कारण लड़कियों के स्कूल छोड़ने की दर अधिक थी. इसके मद्देनजर सरकार ने सभी स्कूल परिसरों में लड़कियों और लड़कों के लिए अलग-अलग शौचालय सुविधा बहाल करने करने की योजना बनाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *