• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Jharkhand news:बंद कमरे से प्रेमी जोड़े का शव बरामद,घर वालों को मंजूर नहीं था प्यार

1 min read

NEWSTODAYJ_रांचीः रांची के खेल गांव ओपी इलाके में एक बंद कमरे से प्रेमी जोड़े का शव बरामद किया गया है. दोनों के शव फंदे से लटके मिले थे. मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और दोनों शवो को फंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा. पुलिस ने आसपास के लोगों से पूछताछ की है. लेकिन अभी घटना के संबंध में कोई अहम तथ्य हाथ नहीं लगा है.

यह भी पढ़े…Jharkhand news:स्थिति नियंत्रण होने के बाद 4 जिलों में इंटरनेट सेवा बहाल, मूर्ति विसर्जन के दौरान झड़प को लेकर प्रशासन ने की थी सेवा बंद

क्या है पूरा मामलाः पुलिस के मुताबिक खेल गांव ओपी के खटंगा के रहने वाले 22 वर्षीय आशीष साहनी और 20 वर्षीय निशु कुमारी का शव बुधवार शाम फंदे से लटका मिला. आशीष साहनी और निशु कुमारी पड़ोसी हैं, दोनों के बीच स्कूल के समय से ही प्रेम प्रसंग चल रहा था. निशु कुमारी की मां पिंकी देवी खेल गांव की ही स्थानीय कंपनी में काम करती हैं, जबकि उसके पिता का देहांत पहले ही हो चुका है.

लड़की की मां पिंकी देवी ने बताया कि वह हर दिन की तरह फैक्ट्री में काम के लिए चली गई थी शाम करीब 5 बजे घर लौटी तो देखा कि घर अंदर से बंद है. काफी खटखटाने पर भी दरवाजा अंदर से नहीं खुला तो एक छोटे बच्चे को बुलाकर खिड़की से झंकवाया तो अंदर निशु और आशीष लटक रहे थे. यह जानकर उसने शोर मचाया, उसका शोर सुनकर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए और मामले की जानकारी पुलिस को दी गई. पुलिस के आने के बाद घर का दरवाजा तोड़कर आशीष और निशु को फांसी के फंदे से उतारा गया लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी.

 

घर वालों को मंजूर नहीं था दोनों का प्यारः मिली जानकारी के अनुसार निशु और आशीष बचपन से ही एक दूसरे को जानते थे. क्योंकि दोनों पड़ोसी थे इसलिए उनके बीच प्यार पनपा और उन्होंने साथ जीने मरने की कसमें खा लीं. लेकिन दोनों के परिवार वालों को यह मंजूर नहीं था. दोनों को अलग करने के लिए कई बार प्रयास किया गया था इसी वजह से दोनों काफी तनाव में थे.

निशु और आशीष पड़ोसी थे, जैसे ही आशीष के परिजनों को निशु के मौत की सूचना मिली वे भागे भागे मौके पर पहुंचे और दहाड़ मार कर रोने लगे. एक तरफ आशीष के परिजन दहाड़ मार कर रो रहे थे वहीं दूसरी तरफ निशु के परिजन. किसी तरह पड़ोसियों ने दोनों परिवार वालों को समझा-बुझाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए जाने दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.