• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Jharkhand News:आजसू द्वारा शहीद निर्मल महतो शहादत दिवस मनाया गया,उनके बलिदानों को किया गया याद…

1 min read

आज भी जारी है शहीद निर्मल महतो की लड़ाई – गौतम सिंह

 

NEWSTODAYJ_राँची:झारखण्ड के पुरोधा एवम आजसू के संस्थापक शहीद निर्मल महतो का झारखंड अलग राज्य के आंदोलन में अमूल्य योगदान रहा है। उनके विचारों ने शोषित, वंचितों एवं कमजोर वर्ग के लोगों को साथ लेकर झारखंड आंदोलन को प्रेरित करने किया था, आजसू उनके विचारों को मरने नहीं देगी। आजसू उनके विचारों को जन जन तक पहुंचाकर युवाओं के लिए अहितकारी ठगबंधन सरकार के खिलाफ क्रांति लाने की आवश्यकता है। आज भी जारी है शहीद निर्मल दा की लड़ाई, उनके सपनों का झारखंड हम सब मिल कर तैयार करना है। यह बातें आजसू के प्रदेश अध्यक्ष गौतम सिंह ने कही।

यह भी पढ़े…..Jharkhand news:दिनदहाड़े बीच बाजार दो राउंड चली गोली, पुलिस पहुंची मौके पर दो संदिग्धों को किया गिरफ्तार

आजसू ने हरमू रोड स्थित केंद्रीय कार्यालय में शहीद निर्मल महतो शहादत दिवस मनाया एवम उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रधांजलि अर्पित किया। आजसू के पदाधिकारियों ने बारी बारी से शहीद निर्मल महतो के चित्र पर पुष्प अर्पित किया एवं उनके बलिदान को याद करते हुए एक मिनट का मौन रखा।

युवाओं के प्रेरणा स्रोत थे शहीद निर्मल महतो

आजसू के प्रदेश वरीय उपाध्यक्ष अब्दुल जब्बार ने कहा कि झारखंड अलग राज्य निर्माण के आंदोलन में निर्मल महतो का अतुल्य योगदान रहा है। झारखंड उनके इस योगदान को कभी नहीं भुला सकता है।आजसू की प्रदेश सचिव ज्योत्सना केरकेट्टा ने कहा कि निर्मल दा के बलिदान से हमें राज्य के नवनिर्माण की प्रेरणा मिलती है। वे युवाओं के प्रेरणा स्रोत हैं। उनके आदर्शों पर चल कर ही सपनों का झारखंड बनाया जा सकता है। उन्होंने जैसे युवाओं का नेतृत्व करते हुए झारखंड अलग राज्य की लड़ाई लड़ी वैसे ही उनसे प्रेरणा लेते हुए युवाओं अधिकारों की लड़ाई लड़नी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.