• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

India’s support : कृषि कानूनों पर अमेरिका ने किया India का समर्थन, कहा- इससे बढ़ेगा दुनिया में भारतीय बाजार का प्रभाव…

1 min read

India’s support : कृषि कानूनों पर अमेरिका ने किया India का समर्थन, कहा- इससे बढ़ेगा दुनिया में भारतीय बाजार का प्रभाव…

NEWSTODAYJ : वाशिंगटन। अमेरिका ने भारत के नए कृषि कानूनों का स्वागत किया है। अमेरिका ने कहा है कि वह ऐसे कदम का स्वागत करता है जिससे दुनिया में भारतीय बाजार का प्रभाव बढ़े। यह स्वीकार करते हुए कि कृषि कानूनों पर शांतिपूर्ण विरोध एक संपन्न लोकतंत्र की एक बानगी है, अमेरिका ने बुधवार को कहा कि वह ऐसे कदमों का स्वागत करता है जो भारत के बाजारों की दक्षता में सुधार करेंगे और निजी क्षेत्र के अधिक निवेश को आकर्षित करेंगे।विदेश विभाग के एक प्रवक्ता ने संकेत दिया कि नई बाइडन सरकार कृषि क्षेत्र में सुधार के लिए भारत सरकार के कदम का समर्थन करती है,

यह भी पढ़े…Chauri Chaura Centenary Celebration : चौरी चौरा शताब्दी समारोह की वर्चुअल शुरुआत करेंगे प्रधानमंत्री मोदी, 172 लोगों को हुई थी फांसी की सजा…

जो किसानों के लिए निजी निवेश और अधिक बाजार पहुंच को आकर्षित करती है।अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि सामान्य तौर पर अमेरिका ऐसे कदमों का स्वागत करता है जो भारत के बाजारों की दक्षता में सुधार करेंगे और निजी क्षेत्र के निवेश को आकर्षित करेंगे।भारत में चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन को लेकर किए गए एक सवाल के जवाब में अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका, भारत के अंदर बातचीत के माध्यम से पार्टियों के बीच किसी भी मतभेद को हल किया जाने के पक्ष में है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि हम मानते हैं कि शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन किसी भी संपन्न लोकतंत्र की पहचान है और भारत की सर्वोच्च न्यायालय ने भी यही कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें