Illegal poppy destroyed : 150 एकड़ में लगे अवैध अफीम की फसलों को पुलिस ने किया नष्ट , जमीन मालिकों के खिलाफ कुल पांच कांड दर्ज…

1 min read

Illegal poppy destroyed : 150 एकड़ में लगे अवैध अफीम की फसलों को पुलिस ने किया नष्ट , जमीन मालिकों के खिलाफ कुल पांच कांड दर्ज…

NEWSTODAYJ : खूंटी जिले के खूंटी, मुरहू, अड़की, सायको और मारंगहादा थाना क्षेत्रों में इस वर्ष भी वृहद पैमाने पर अफीम की खेती की गई है।पुलिस कप्तान आशुतोष शेखर ने बताया कि सूचना मिलने पर पुलिस की ओर से नष्ट करने का अभियान चलाया जा रहा है और अभी तक कुल लगभग 150 एकड़ में लगे अवैध अफीम की फसलों को नष्ट किया जा चुका है। चिन्हित खेतों के मालिकों के खिलाफ कुल पांच कांड दर्ज किये गये हैं, जबकि तीन अफीम के किसानों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।एसपी ने बताया कि नशे की फसल को नष्ट करने का अभियान लगातार जारी है और ये अभियान तब तक जारी रहेगा जब तक फसल पूरी तरह खत्म न हो जाए।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : रिश्वत लेकर कोयला लोड वाहनों को निकलवाया जाता था , SSP ने सब इंस्पेक्टर को किया सस्पेंड…

खूंटी जिले में अफीम की खेती को नष्ट करने में पुलिस ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।एसपी आशुतोष शेखर ने बताया कि जहां भी अवैध अफीम की खेती होने की सूचना प्राप्त हुई है।उसे नष्ट करने का काम तत्काल किया जा रहा है।एसपी ने बताया कि अब तक अवैध अफीम की खेती मामले में कुल पांच कांड प्रतिवेदित किए जा चुके हैं।तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।उन्होंने कहा कि अन्य जिन भूमि पर अफीम की फसलों को नष्ट किया गया है।उस जमीन का सत्यापन वन विभाग और अंचल कार्यालय से किया जा रहा है।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के शुभ अवसर पर विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिता एवं सम्मानित करने का कार्यक्रम किया…

एसपी ने कहा कि अफीम की अधिकांश खेती जिले के मारंगहादा, खूंटी, मुरहू, अड़की और सायको थाना क्षेत्रों में हुई है। अफीम नष्ट करने वाली विशेष टीम ने सायको थाना क्षेत्र के सैदबा जंगल में साढ़े पांच एकड़, अड़की थाना क्षेत्र के सुराकोचा में पौने 12 एकड़, खूंटी के अलौंदी और कुमकुमा में साढ़े चार एकड़ और मुरहू के सिरका गांव में साढ़े सात एकड़ में लगी अफीम की फसलों को नष्ट किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.