• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Hunter arrested : शिकार करते शिकारी गिरफ्तार अपराधी के निशानदेही पर शिकार करने के दौरान प्रयुक्त हथियार बरामद…

1 min read

Hunter arrested : शिकार करते शिकारी गिरफ्तार अपराधी के निशानदेही पर शिकार करने के दौरान प्रयुक्त हथियार बरामद…

NEWSTODAYJ : लातेहार जिले के बरवाडीह पंचायत में पलामू टाइगर रिज़र्व क्षेत्र के बेतला वन क्षेत्र में गश्ती के दौरान वन कर्मियों को गोली चलने की आवाज सुनाई दी,तब गस्त कर रहे वनकर्मी गोली चलने की आवाज के दिशा में जाकर देखा तो कुछ लोग भागते हुए नज़र आये। इसी क्रम में भागते हुए शिकारी का फोटो गस्ती कर रहे ,वन कर्मियों को मिला जिसके आधार पर सतबरवा थाना क्षेत्र के ग्राम रबदा, टोला झारिवा निवासी विजय सिंह,पिता लेटगु सिंह जिला पलामू के निवासी के रूप में शिनाख्त की गई।

यह भी पढ़े…Crime : छात्र का शव डैम से बरामद , NDRF और गोताखोरों ने कड़ी मेहनत के बाद डैम से युवक का शव बरामद किया , परिजनों ने हत्या का आशंका जताया…

जिसके बाद पलामू पुलिस के सहयोग से अवैध रूप से शिकार करने वाले शिकारी विजय सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया। वही गिरफ्तार करने के बाद बेतला नेशनल पार्क में स्थित वन विभाग के कार्यालय लाया गया। जहां हिरासत में उसे पूछताछ के दौरान वन कर्मियों को शिकार में प्रयुक्त हथियार के बारे में भी वन कर्मियों को जानकारी मिली। गिरफ्तार शिकारी की निशानदेही पर जंगल में ही छुपा कर रखें ,भरठुआ बंदूक बरामद किया गया।

यह भी पढ़े…Violation : करोना वायरस का नेवता देते दिखे BJP कार्यकर्ता , न मास्क, न सोशल डिस्टेंसिंग , सरकार के नियमो का धज्जियां उड़ाते दिखे…

जिसकी जानकारी आज बेतला रेंज के कार्यालय में प्रशिक्षु भारतीय वन सेवा संलग्न पदाधिकारी नरेंद्र कुमार के द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी। इस दौरान प्रशिक्षण अधिकारी ने कहा कि शिकारी के पकड़ने के लिए वन विभाग एवं पलामू पुलिस के तरफ से संयुक्त अभियान चलाया गया था। जिसमें पलामू एसपी का सहयोग सराहनीय रहा अभी यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि इस तरह की घटना की पूर्ण आवृत्ति ना हो सकें। इसके लिए हम गश्ती दल के बढ़ाने के विचार किया जा रहा हैं। साथ ही साथ पलामू टाइगर रिजर्व क्षेत्र के बेतला नेशनल पार्क के जंगलों से लगने वाले अन्य जिलों के बॉर्डर पर गस्ती बढ़ाई जाएगी।

यह भी पढ़े…Human smuggler : बंधक बने रांची की 30 लड़कियों को मानव तस्कर से मुक्त कराया , एक महिला गिरफ्तार…

ताकि कोई भी शिकारी आसानी से वन क्षेत्र में शिकार करने के नियत से प्रवेश न कर सके। इसके साथ ही यह प्रयास भी किया जाएगा कि वन क्षेत्र के जानवरों की पूर्ण सुरक्षा हो सकें। वही गिरफ्तार शिकारी के बारे में आगे उन्होंने कहा कि कि जब वन विभाग की गश्ती दल जंगल में गस्त कर रहा था, तो गोली की आवाज सुनाई दी जब वन कर्मी गोली की आवाज की तरह भागे तो कुछ लोग भागते हुए दिखाई दिए। जिनमें से एक का फोटो हमें वहीं जंगल में मिला जिसके साथ करने पर विजय सिंह पिता लेटगु सिंह, ग्राम रबदा, पलामू निवासी के रूप में शिनाख्त हुई। जिसके बाद स्पेशल टीम बनाकर पलामू पुलिस के सहयोग से उसे गिरफ्तार किया गया।

वही पहले भी चुकी बेतला वन क्षेत्र में जंगली जानवरों की मौत….

बताते चलें कि फरवरी माह से अब तक पलामू टाइगर रिजर्व वन क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले बेतला नेशनल पार्क के जंगलों में अब तक कई जंगली जानवरों जिसमें एक बाघिन तीन बाइसन तथा हाथी की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़े…Food distribution : जनवितरण प्रणाली संचालक ने किया उपभोक्ताओं के खाद्यान वितरण…

वही अभी अभी तीन से तीन दिन पहले केचकी रेलवे स्टेशन के समीप नवजात हिरण के बच्चे के साथ साथ छह हिरणों की मौत ट्रेन की चपेट में आ जाने से हो गया था। जिसको लेकर वन विभाग पड़ताल में जुटी हुई है। वही रेल प्रशासन से भी इस बारे में ट्रेनों की स्पीड तथा अन्य जरुरतो मापदंडों संबंधी कारण बताओ नोटिस भी दिया हैं।

कैसे बचाये जाएंगे बेतला के जंगलों के जंगली जानवर…

अगर इसी तरह से जंगली जानवरों के शिकार करने वाले शिकारी घूमते रहेंगे तथा जानवरों के लिए सबसे सुरक्षित जगह जंगल उसी में जानवर अज्ञात बीमारियों से लगातार मरते रहेंगे तो विभाग कैसे जंगली जानवर की सुरक्षा कर पाएगी।

यह भी पढ़े…Crime : कोढा गैंग के चार सदस्य को पुलिस ने किया गिरफ्तार , नेपाल , झारखंड , बिहार राज्य में लूट का अंजाम दिया करता था…

यह भी एक यक्ष प्रश्न है इसका जवाब वन विभाग को ढूंढना होगा। अगर निरंतर इसी तरह की घटनाएं होती रही तो जंगली जानवर भटक कर या किसी अन्य कारणों से दूसरे इलाकों में चले जाए तथा रेल या सड़क दुर्घटना या किसी शिकारी का शिकार हो जाए तो उसकी जवाबदेही किसकी बनती है।इस पर संबंधित विभाग जिला एवं राज्य सरकार को सोचना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.