Good news for farmers : 50 हजार तक का कर्ज होगा माफ, कैबिनेट ने लगाई मुहर…

Good news for farmers : 50 हजार तक का कर्ज होगा माफ, कैबिनेट ने लगाई मुहर…

NEWSTODAYJ : रांची।झारखंड की हेमंत सोरेन कैबिनेट ने किसानों की ऋण माफी पर अपनी मुहर लगा दी है। बुधवार को मंत्रिपरिषद् की बैठक में इसपर अंतिम निर्णय लिया गया। मात्र एक रुपए में किसानों के 50 हज़ार रुपए के ऋण माफ किए जाएंगे। इसके लिए कैबिनेट ने 2 हज़ार करोड़ की स्वीकृति दी है। आपको बता दें कि, कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में किसानों की क़र्ज़माफ़ी का वादा किया था। पिछले दिनों ही कांग्रेस कोटे के मंत्री एवं राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि, सरकार के एक साल पूरे होने पर राज्य के किसानों को सौगात दी जाएगी।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : 29 दिसंबर को आजसू पार्टी विश्वासघात दिवस मनाएगी , हेमन्त सरकार का कमियां लोगों बीच बताया जएगा…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

29दिसंबर को झारखंड सरकार का एक साल पूरा हो रहा है।कृषि मंत्री बादल पत्रलेख का दावा है कि, पिछली सरकार से इसबार तीन गुणा अधिक धान का क्रय किया जाएगा। ज़रूरत पड़ी तो मोबाइल वैन के माध्यम से किसानों से धान ख़रीदा जाएगा। उन्होने कहा कि, बिचौलियों को रोकने के लिए ज़रूरत पड़ी तो टास्क फोर्स का भी गठन किया जाएगा। पूर्ववर्ती रघुवर दास की सरकार पर हमला बोलते हुए बादल पत्रलेख ने कहा कि, धान की ख़रीद के साथ ही 50 प्रतिशत राशि किसान के बैंक खाते में भेज दी जाएगी। राशि के लिए किसानों को भटकना नहीं पड़ेगा। धान क्रय केंद्रों की संख्या के सवाल पर उन्होने कहा कि, जनप्रतिनिधि जहां ज़रूरत महसूस करेंगे वहां क्रय केंद्र स्थापित किए जाएंगे।झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार कृषि कानूनों का विरोध करती आई है। किसानों के भारत बंद को सफल बनाने के लिए सरकार के कैबिनेट मंत्री सड़कों पर उतरे। खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कृषि कानूनों को लेकर केंद्र पर हमला कर चुके हैं। किसानों को अपना समर्थन देते हुए सीएम ने कहा कि, आज देश का अन्नदाता सड़कों पर है। इससे समझा जा सकता है कि, देश की स्थिति क्या है। केंद्र सरकार उस वर्ग पर हमला कर रही है जो देश का पेट भरता है। कृषि मंत्री बादल पत्रलेख भी कृषि कानूनों को किसानों के लिए हानिकारक बता चुके हैं।भाजपा ने कांग्रेस पर देश के किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाया है। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास की मानें तो देश में कोई भी नया काम होता है तो कांग्रेस उसके ख़िलाफ़ उठ खड़ी होती है। कृषि क़ानूनों को लेकर भी कांग्रेस देश में भ्रम फैला रही है।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : रेलवे स्टेशन से पहले मालगाड़ी के इंजन से अलग हुआ बोगी पलटा, दर्जनों पोल हुए क्षतिग्रस्त…

विपक्ष के नेता जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुकाबला नहीं कर पाते हैं तो लोगों को गुमराह करने में लग जाते हैं। उन्होने कहा कि, देश के प्रधानमंत्री से लेकर कृषि मंत्री कृषि कानूनों को लेकर स्थिति स्पष्ट कर चुके हैं।खेती हमारी संस्कृति और परंपरा का आधार है। रघुवर दास ने कहा कि, झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने किसानों के पेट पर लात मारने का काम किया है। मुख्यमंत्री बनते ही हेमंत सोरेन ने मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना को बंद कर दिया। हमारी सरकार में झारखंड देश का पहला राज्य था जहां फसल बीमा का प्रीमियम किसान नहीं बल्कि सरकार भरती थी। उन्होने कहा कि, झामुमो, कांग्रेस और राजद ने झूठ और फ़रेब की बुनियाद पर राज्य में सरकार बनाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here