Finance Minister of India : आज वित्त मंत्री 12:30 दोपहर बजे देश की आर्थिक स्थिति के बारे में बताएंगी , प्रेस कांफ्रेंस के जरिए…

Finance Minister of India : आज वित्त मंत्री 12:30 दोपहर बजे देश की आर्थिक स्थिति के बारे में बताएंगी , प्रेस कांफ्रेंस के जरिए…

NEWSTODAYJ नई दिल्ली : देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज दोपहर 12:30 बजे देश की आर्थिक स्थिति के बारे में बताएंगी।इससे पहले आरबीआई गवर्नर शक्तिकान्त दास ने मौद्रिक नीति समिति की बैठक के बाद की प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि जनवरी-मार्च 2021 यानी चालू वित्त वर्ष के अंतिम और चौथी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ पॉजिटिव में देखने को मिल सकती है।

यह भी पढ़े…Crime News : नदी किनारे से महिला की लाश मिली, परिजन ने पति पर हत्या का आरोप लगाया…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

हालांकि आरबीआई गवर्नर ने यह भी अनुमान लगाया कि चालू वित्त वर्ष यानी 2020-21 में जीडीपी ग्रोथ शून्य से 9.5 फीसदी नीचे रह सकती है।आपको बता दें कोरोना काल में केंद्र सरकार ने दो वित्तीय पैकेज का ऐलान किया था।सबसे पहले 16 मार्च को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज और फिर इसके बाद करीब 21 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर भारत पैकेज का ऐलान किया गया।दूसरे राहत पैकेज में फिस्कल और मॉनेटरी पॉलिसी के फैसलों को भी शामिल किया गया।भारतीय अर्थव्यवस्था का सबसे बुरा खत्म?-

यह भी पढ़े…Star publicist : भाजपा के स्टार प्रचारकों की सूची में राजीव प्रताप रुडी समेत शाहनवाज और निरहुआ शामिल नहीं…

एचडीएफसी लिमिटेड के सीईओ केकी मिस्त्री का कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था का सबसे बुरा वक्त पीछे छूट चुका है और आर्थिक सुधार की गति उम्मीद से अधिक तेज है।उन्होंने कहा कि दिसंबर तिमाही के दौरान विकास दर पिछले साल की समान तिमाही के मुकाबले बेहतर रह सकती है।उन्होंने कहा कि पिछले 6 महीने में भारतीय अर्थव्यवस्था ने अपना लचीलापन साबित किया है।होम लोन का कारोबार करने वाली वित्तीय कंपनी एचडीएफसी लिमिटेड के सीईओ केकी मिस्त्री ने शनिवार को अखिल भारतीय प्रबंधन संघ की ओर से आयोजित एक ऑनलाइन कार्यक्रम ये बातें कहीं।केकी मिस्त्री ने कहा कि अनुकूल ब्याज दरों का दौर आगे भी जारी रहेगा और आर्थिक गतिविधियों में गति तेज होने और मुद्रास्फीति के दबाव बढ़ने के बाद ही दरें बढ़ेंगी। हालांकि, उन्होंने कहा कि ब्याज दरें अपने निचले स्तर पर आ चुकी हैं।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : जल जीवन मिशन : ग्रामीणों की उपस्थिति में बनाई गई कार्ययोजना…

मंत्रालय ने आगे कहा कि अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के असर को कम करने के लिए और लोगों की जीविका बेहतर करने के लिए सरकार सभी संभावनाओं पर काम कर रही है।आम लोगों का जीवन बेहतर करने के लिए वित्त मंत्रालय कोई भी फैसला लेने से पीछे नहीं हटेगा।इसमें कहा गया कि लॉकडाउन में चरणबद्ध तरीके से ढील देने के बाद अर्थव्यवस्था अब रफ्तार पकड़ने लगी है।व्यापारिक गतिविधियों के शुरू होने का असर अब दिखने लगा है।सितंबर महीने में 95,480 करोड़ रुपये के जीएसटी कलेक्शन से ही इस बात के संकेत मिल रहे हैं।यह साल-दर-साल आधार पर सितंबर महीने में 4 फीसदी बढ़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here