Electric prepaid meter : नवंबर से सिटी में बिजली मीटर होंगे स्मार्ट , तीन लाख घरों में प्रीपेड मीटर लगाने की योजना…

Electric prepaid meter : नवंबर से सिटी में बिजली मीटर होंगे स्मार्ट , तीन लाख घरों में प्रीपेड मीटर लगाने की योजना…

NEWSTODAYJ रांची : राजधानी के साढे़ तीन लाख उपभोक्ताओं के घर में नवंबर से बिजली का प्रीपेड मीटर लगाने का काम शुरू हो जाएगा। झारखंड बिजली वितरण निगम द्वारा प्रीपेड मीटर लगाने वाली एजेंसी का चयन करने का प्रोसेस शुरू हो गया है। 3 नवंबर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रीपेड मीटर लगाने वाली एजेंसियों के साथ प्रीबिड मीटिंग की जाएगी।

यह भी पढ़े…Events Karauli : जमीन विवाद में पुजारी को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया, CM गहलोत ने कहा- बख्शे नहीं जाएंगे दोषी…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

20 नवंबर तक प्रीपेड मीटर लगाने वाली एजेंसी का चयन पूरा कर लिया जाएगा। उसके बाद मीटर लगाने का काम शुरू हो जाएगा। एक साल के अंदर राजधानी के हर घर में प्रीपेड बिजली मीटर लगाने का काम पूरा कर लिया जाएगा।रांची में पायलट प्रोजेक्ट।प्री-पेड स्मार्ट मीटर लगाने की शुरुआत राजधानी रांची से की जाएगी। सरकार ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत सबसे पहले रांची जिले में स्मार्ट मीटर लगाने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़े…Fraudulent registration : प्रेस क्लब के नाम से फर्जीवाड़ा कर निबंधन करवाया गया ,प्रेस क्लब के लोगो ने उपायुक्त से की मुलाक़ात…

रांची में काम पूरा होने के बाद जमशेदपुर, धनबाद तथा राज्य के अन्य प्रमुख शहरों में भी स्मार्ट मीटर लगाने का काम शुरू किया जाएगा। राजधानी के साढे़ तीन लाख घरों में बिजली का प्री-पेड स्मार्ट मीटर लगाया जाएगा। इस मीटर के लगने के बाद लोग अपने घर में बिजली की खपत अपने हिसाब से कर सकेंगे। प्रीपेड मीटर लगाने के लिए राजधानी के लोग भी इंतजार कर रहे हैं कि कब से उनके घर में प्री-पेड मीटर सेवा शुरू होगी, ताकि वो अपने अनुसार बिजली खर्च कर सकें।ऑनलाइन होगा बिजली का काम।इस सिस्टम के माध्यम से कंज्यूमर की बिजली खपत आदि पर भी नजर रखी जाएगी। सारा सिस्टम सर्वर नेट सिस्टम के माध्यम से संचालित होगा।

यह भी पढ़े…Theaters will open : बंगाल में खुलेंगे सिनेमाघर, सुशांत सिंह राजपूत की दिखाई जाएंगी फिल्में…

यदि कंज्यूमर की बिजली कटती है या लो वोल्टेज आदि की समस्या होती है तो इसकी जानकारी अपने आप सेंट्रल कंट्रोलिंग सिस्टम के माध्यम से बिजली अधिकारियों तक पहुंच जाएगी। बिजली उपभोक्ता भी हर दिन अपनी बिजली खपत पर नजर रख पाएंगे। इसके तहत उपभोक्ता अपने मासिक बिल और बिजली खपत की प्लानिंग कर सकते हैं। सारा सिस्टम ऑनलाइन होगा और सारी व्यवस्था ट्रांसपैरेंट रहेगी। आम बिजली उपभोक्ता भी बिजली से संबंधित सारी जानकारी ऑनलाइन देख सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here