Diwali sign for industries : उधोगों को मिल सकता है दिवाली बोनस, वित्त मंत्री का संकेत…

1 min read

Diwali sign for industries : उधोगों को मिल सकता है दिवाली बोनस, वित्त मंत्री का संकेत…

NEWSTODAYJ : नई दिल्ली। कोरोना में लॉकडाउन की वजह से लगे झटके से उधोग-धंधे धीरे-धीरे बाहर आने लगे है। लेकिन इन उधोगों को अभी भी कुछ मदद की उम्मीद है।उधोगों को दिवाली बोनस मिलने की संभावना है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पिछले सप्ताह उधोगों को और पैकेज मिलने की संभावना जाहिर की थी। इसे उधोगों के लिए दिवाली का संकेत माना जा रहा है।

यह भी पढ़े…Jharkhand news : दुमका व बेरमाे उप चुनाव में महागठबंधन की भारी मतों से विजयी होगी – सुबोधकांत सहाय…

शहरी क्षेत्रों के मुलभुत क्षेत्र को अभी भी सरकारी मदद का इंतजार है। इन क्षेत्रों में बड़ी संख्या में रोजगार निर्माण की क्षमता है। इसलिए सरकार की तरफ से इस क्षेत्र के लिए मदद पैकेज जाहिर होने की संभावना वित्त मंत्रालय के सूत्रों ने व्यक्त की है।इसके अलावा होटल और पर्यटन क्षेत्र को भी सरकारी मदद की उम्मीद है। इन उधोगों को इस विप्पति से बाहर निकलने के लिए सरकार की तरफ से इन्हे पैकेज देने की संभावना जताई जा रही है। वित्त मंत्रालय दवारा इस पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है।

यह भी पढ़े…Sarna Dharma Code : सरना धर्म कोड को लेकर विधानसभा का विशेष सत्र स्थापना दिवस के पहले : मुख्यमंत्री…

वित्त मंत्रालय के अधिकारी इस पैकेज का रूप क्या होगा इसकी रुपरेखा तैयार कर रहे है। यह पैकेज दिवाली से पहले घोषित होने की संभावना है।राष्ट्रीय मुलभुत योजना में 20 से 25 प्रोजेक्ट को मंजूरी देकर इसके जरिये इन क्षेत्रों में रोजगार के मौके बढ़ाने पर सरकार ध्यान दे सकती है।अब तक दिए गए तीन पैकेज मार्च महीने के आखिर में कोरोना के प्रादुर्भाव शुरू होने के बाद उधोग क्षेत्र को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़े…Global map : G-20 बैंक नोट पर दिखाया जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का गलत नक्शा, भारत ने सऊदी अरब से जताया एतराज…

इन क्षेत्रों को मदद के रूप में केंद्र सरकार ने अब तक तीन बार पैकेज की घोषणा की है। मार्च महीने में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1. 70 लाख करोड़ रुपए की घोषणा की गई थी। इसके बाद मई महीने में 20. 97 लाख करोड़ रुपए के दूसरे पैकेज की घोषणा की गई।अब कुछ घोषणा करके वित्त मंत्री ने उधोग को कुछ राहत दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.