• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Dhanbad News : मंदबुद्धि बच्चों पर होती थी थर्ड डिग्री ट्रीटमेंट, एक बच्ची की रहस्यमय मौत,दूसरे को गंभीर चोटें,जांच में जुटे पुलिस

1 min read

NEWSTODAYJ : धनबाद जिले के झरिया थाना क्षेत्र के बस्ताकोला में एक जीवन नाम से संस्था है जो मंदबुद्धि, मुख बधिर बच्चों के इलाज और शिक्षा देने के लिए हैं लेकिन यह संस्था हमेशा विवादों में ही रहा हैं।संस्था की एक बच्ची जो बौधिक दिव्यांग 17 वर्षीय गौरी कुमारी की शुक्रवार 15 जुलाई को रहस्मय परिस्थिति में मौत हो गई थी। उसके मुंह और नाक से खून निकल रहा था। इसपर बाल कल्याण समिति ने जीवन के संस्थापक एके सिंह से पूरी रिपोर्ट मांगी है। बाल कल्याण समिति को अब पोस्टमार्ड्म रिपोर्ट का इंतजार है।शनिवार 16 जुलाई को एक बच्चे को बेरहमी से पिटाई करने और गर्म आयरन से जलाने का मामला भी सामने आया था।

 

यह भी पढ़े…..Dhanbad News : शराब पीकर मजदूर ने की मजदूर की हत्या पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

 

घायल बच्चे का नाम बादल पाठक है जो आसनसोल का रहने वाला है।मामले का पता तब चला जब बादल के पिता बिपिन पाठक अपने बेटे को देखने जीवन संस्था पहुंचे। तब बेटे ने रो – रो कर अपने पिता को आपबीती बताई। बादल के शरीर पर डंडे का चोट उभरा हुआ था साथ ही कान के समीप और पैर में जलने के निशान हैं। बादल अपनी तोतली आवाज और इशारे से पूरी घटना क्रम बताया।बादल के पिता बिपिन पाठक ने मीडिया को बताया कि उनके बेटे को बेरहमी से जीवन के एके सिंह और उसके भाई और बेटी के द्वारा एक रूम में बंदकर पीटा गया है ।जिससे बच्चे को कई गंभीर चोट आई है। अब हम बच्चे को यहां नही रखेंगे और यह कहते वे अपने बच्चे को ले गए।जीवन संस्था में इससे पहले भी बच्चे का मार के डर से भाग जाने का मामला सामने आ चुका है. जीवन संस्था के प्रिंसिपल एके सिंह का बच्चे की मौत मामले में कहना है की उसका ब्रेन हैमरेज से मौत हुई है कहा की एसएनएमएमसीएच अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई।

 

यह भी पढ़े….Dhanbad News : पुलिस ने मैनेजर राय को किया गिरफ्तार जांच में जुटी पुलिस

 

वही दूसरे बच्चे की पिटाई के मामले में कहा कि ऐसे बच्चों को ट्रीटमेंट के लिए पीटा जाता है रूम में बंद कर पिटाई की बात भी कबूली है।पूरे मामले को लेकर धनबाद समाज कल्याण पदाधिकारी स्नेहा कश्यप ने कहा की मामले की शिकायत हम तक नही आई है शिकायत मिलने पर जांच पड़ताल कर कार्रवाई की जाएगी बहरहाल, मंदबुद्धि बच्चे, दिव्यांग बच्चे, या मुख बधिर बच्चे को परिजन ऐसी संस्था में इसलिए भेजते हैं ताकि वह पहले से बेहतर हो और उसमे समझ बढ़े ,अपने पैर पर खड़ा हो सके लेकिन इस तरह से थर्ड डिग्री ट्रीटमेंट से संस्था के कार्यशैली पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं।जीवन संस्था में मंदबुद्धि बच्चे के साथ बेरहमी से मारपीट मामले में जिला प्रशासन भी अब रेस हो चुकी है। सोमवार रात झरिया अंचल अधिकारी प्रमेश कुशवाहा जांच करने बस्ताकोला स्थित जीवन संस्था पहुँचे। अंचल अधिकारी ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है पूरी तरह से जांच की जा रही है जाँच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.