• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Dhanbad News : नगर निगम पर आरोप, एक वाटर कनेक्शन पर दो कंज्यूमर नंबर से भेजा बिल

1 min read

Views : 32145
NEWSTODAYJ : धनबाद शहर का नगर निगम लगातार चर्चा का केंद्र बना रहता है. परंतु बुधवार को एक ऐसा मामला प्रकाश में आया है जो नगर निगम के कार्यशैली पर सवाल उठा रहा है. मामला है बैंक मोड़ विकास नगर निवासी संतोष कुमार शर्मा का जिन्होंने ये आरोप लगाया है कि उनके घर पर निगम द्वारा आवंटित एक वाटर कनेक्शन लगा हुआ है, जिसका कंज्यूमर नंबर DHA 1906 1711077081 57524 है।

 

 

 

यह भी पढ़ें……Dhanbad News : जेल में बंद शूटर अमन सिंह ने धनबाद कोर्ट में दायर आवेदन में सुरक्षा का लगया गुहार,पुलिस पर लगाया जान से मारने का आरोप

 

 

 

 

इस कनेक्शन के एवज में वह वर्ष 2017 से नियमित रूप से भुगतान करते आ रहे है परंतु, इसी दौरान धनबाद नगर निगम से उनके मोबाइल पर एक दूसरे कंज्यूमर नंबर से वाटर बिल के एवज में तीस हजार चार सौ सैंतीस रुपये का बकाया भुगतान करने का मैसेज आया है जिसका कंज्यूमर नंबर DHA 0106 1711 5247 15646 है इस संबंध में संतोष कुमार शर्मा का कहना है कि उनके घर में एक वाटर कनेक्शन है तो फिर नगर निगम दो वाटर बिल क्यों भेज रहा है. उन्होंने इस मामले की लिखित शिकायत कर दी है लेकिन इसका अब तक कोई जवाब नहीं मिला है. ऐसे में शिकायतकर्ता का कहना है कि वह दैनिक मजदूरी का काम करने वाले व्यक्ति हैं. उनके ऊपर फर्जी ढंग से हजारों का बकाया दिखाया जा रहा है जिससे वह काफी परेशान है. इसकी उचित जांच कर उन्हें इस परेशानी से निजात दिलाया जाए. संतोष कुमार शर्मा ने यह भी बताया कि इस संबंध में जब निगम के वरीय अधिकारियों से मुलाकात करना चाहा तो निगम कर्मियों ने उन्हें अधिकारियों से मुलाकात करने से रोक दिया जिससे वह और अत्यधिक परेशान हो गए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.