• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Dhanbad news:मरीज की मौत के बाद परिजनों का हंगामा चिकित्सकों ने खोया आपा, मीडियाकर्मी से भी उलझे…

1 min read

Dhanbad news:मरीज की मौत के बाद परिजनों का हंगामा चिकित्सकों ने खोया आपा, मीडियाकर्मी से भी उलझे…

 

 

NEWSTODAYJ:Dhanbad news :धनबाद,जिले के शहीद निर्मल महतो मेमोरियल मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में रविवार को मरीज के परिजनों द्वारा चिकित्सक के साथ मारपीट और दुर्व्यवहार किए जाने के बाद उलझना महंगा पड़ा जिसे शांत कराने के लिए मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल और जिला प्रशासन की ओर से एडीएम को भी पहुंचना पड़ा।स्थिति काबू से बाहर हो गई। मरीज के परिजनों का आरोप है कि चिकित्सक द्वारा समय पर इलाज मुहैया नहीं कराने से उनके मरीज की मौत हुई है।

यह भी पढ़ें….

Dhanbad news:धनबाद की बाज़ारों का सिटी एसपी व डीएसपी ने ने लिया जायज़ा,2 बजे के बाद दुकाने खुली तो होगी करवाई

वही मौके पर तैनात चिकित्सक का कहना है कि मरीज की स्थिति गंभीर बनी हुई थी। उसका इलाज किया जा रहा था।घटना होने के बाद चिकित्सकों ने काम ठप कर दिया है और एकजुट होकर इमरजेंसी वार्ड के बाहर खड़े हो गए। मौके पर मीडिया कर्मियों ने जब मामले की जानकारी लेनी चाही तो वहां मौजूद चिकित्सकों ने मीडिया कर्मियों का कैमरा, वाहन की चाबी छीनते हुए अभद्र भाषा का प्रयोग कर हाथापाई किया।

जिसके बाद स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को समझाने बुझाने की कोशिश में जुट गई।

 

बाद में घटना की सूचना पाकर एडीएम भी चिकित्सकों को समझाने पहुंचे।ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या चिकित्सक अपने पेशे को छोड़कर गुंडा बनेंगे या उग्र रूप धारण कर इस वैश्विक आपदा काल में कोरोना वारियर्स मीडिया कर्मियों के साथ उलझ कर क्या अर्जित करेंगे।

यह सवाल काफी गंभीर है। अगर इसका जवाब नहीं ढूंढा गया तो फिर वैश्विक महामारी कोरोना से जीतना नामुमकिन है।

 

 

इस विकट परिस्थिति में मरीज के परिजनों की मनोस्थिति को समझते हुए चिकित्सकों को संयम और समझदारी का परिचय देना चाहिए। वही मीडिया कर्मियों से बेवजह उलझना उनके लिए उचित नहीं माना जा सकता है।चंद चिकित्सकों की उग्रता के वजह से धरती का भगवान कहे जाने वाले डॉक्टर से लोगों का विश्वास डगमगा जाएगा। जिससे कोरोना के खिलाफ जारी जंग में मानवता कमजोर पड़ जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.