• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Dhanbad news:धनबाद जिले के एक परिवार को कोरोना से मरने से कम:अपने घर मे रहने का मौत का साया मंडरा रहा है पूरा परिवार दहसत के साए में…

1 min read

Dhanbad news:धनबाद जिले के एक परिवार को कोरोना से मरने से कम:अपने घर मे रहने का मौत का साया मंडरा रहा है पूरा परिवार दहसत के साए में…

NEWSTODAYJ:धनबाद:झरिया-कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी लोगों को घरों में ही रहने की अपील की जा रही है, लेकिन एक ऐसा परिवार हैं जो घर से बाहर रहने को मजबूर हैं. मौत का इतना डर सता रहा है,इस परिवार को कि पूरी रात जाग कर काट रहे हैं। झरिया के अग्नि प्रभावित और भूधंसान इलाके की जब न्यूज़ टुडे झारखंड ने जायजा लिया तो,ऐसा ही एक दृश्य लोदना क्षेत्र सांख्य 10 के लिलोरी पत्थरा बालूगद्दा बस्ती में देखने को मिला।बस्ती निवासी त्रिलोकी प्रसाद के घर में अचानक दरार पड़ने लगी। घर में दरार पड़ने से ये परिवार इन दिनों अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहें हैं.बच्चे भी दहशत में है. घर की दीवारें और आंगन में दरारें पड़ चुकी हैं। किसी भी वक्त घर ध्वस्त हो सकता है घर मालिक त्रिलोकी प्रसाद का कहना है कि उनका घर किसी भी वक्त ध्वस्त हो सकता हैं. आंगन में भी दरारें पड़ चुकी है. जिससे जमींदोज होने का खतरा हर समय बना रहता है. घर के कुछ ही दूरी पर भू धसान क्षेत्र हैं, जंहा से आग के साथ साथ जहरीली गैस के धुंआ निकल रहा हैं।

यह क्षेत्र इतना भयवाह हो गया था कि कभी भी हादसा हो सकता था। जिसको देखते हुए बीसीसीएल प्रबन्धन ने आवागमन बंद कर डेंजर जॉन घोषित कर दिया है।

और हमलोगों को इस डेंजर जॉन में मरने के लिए छोड़ दिया है।

इस संबंध में बीसीसीएल के अधिकारी जयसवाल एवं जेआरडीए के कर्मचारी से मिले। इन्होंने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा आपका काम नही होगा। जिस कारण घरों की आज यह स्थिति हो चुकी है. पुनर्वास के लिए यहां का सर्वे कार्य पूरा किया जा चुका है. बीसीसीएल प्रबंधन और जिला प्रशासन को कई बार वस्तु स्थिति से अवगत करा चुके हैं,इसके बाद किसी तरह का हादसा मेरे परिवार के साथ होता है तो बीसीसीएल के साथ जिला प्रसाशन भी जिम्मेवार होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें