DHANBAD NEWS:धनबाद क्लब में धूम-धाम से मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का कार्यक्रम…

DHANBAD NEWS:धनबाद क्लब में धूम-धाम से मनाया गया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का कार्यक्रम…

NEWSTODAYJ:धनबाद ,क्लब में जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर कार्यक्रम की शुरुआत मनमोहक कीर्तन से हुई। इस महा-महोत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में विधायक राज सिन्हा, बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल यूनिवर्सिटी के कुलपति एके श्रीवास्तव, धनबाद डीआरएम आशीष कुमार, पलटन बाबू वह अन्य मौजूद थे।मुख्य अतिथि द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया.

 

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

आरंभ में इस्कॉन धनबाद के उप-अध्यक्ष दामोदर गोविंद दास द्वारा श्री कृष्ण जन्मोत्सव की विशेषता का वर्णन किया तत्पश्चात इस्कॉन धनबाद के अध्यक्ष प्रेम दास ने जन्माष्टमी के महत्त्व का व्याख्यान करते हुए कहा की कलियुग में सभी पापों से छुटकारा पाने के लिए हमें भगवान श्री कृष्ण के नाम का जाप करना होगा !

 

 

भगवान कृष्ण के नाम-जप मात्र से ही मनुष्य इस जन्म , मृत्यु , जरा और व्याधि के बंधन से छुटकारा पा सकता है। प्रवेश द्वार के बाहर हीं सेल्फी पॉइंट की भी व्यवस्था की गयी और वहां पर भक्तों ने तरह तरह से तस्वीर लेकर अपने आनंद को व्यक्त किये। जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर अनुपम उपहार के स्टाॅल से लोगों ने कई वस्तुओं की खरीददारी की और इस तरह से आज के दिनों को यादगार बनाये

उसके बाद भगवान कृष्ण की लीलाओं का वर्णन करते हुए नृत्य की प्रस्तुति की गई। फिर कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों का स्वागत किया गया। उसके पश्चात भगवान श्री कृष्ण एवं राधा के युगल विग्रह का भव्य पंचामृत अभिषेक आरंभ हुआ । इस महा-अभिषेक में भगवान के विग्रह का दूध, दही, घी, मधु, फलों के रस, फूल एवं गंगाजल इत्यादि से अभिषेक किया गया। विशेष दानकर्ता भक्तों के लिए विशेष विग्रह अभिषेक की व्यवस्था थी।

 

इसके बाद IIT के छात्रों द्वारा लघु नाटिका का आयोजन किया गया जिसमें उन्होंने कृष्ण एवं सुदामा के मित्रता के सुंदर संबंध को दर्शाया। कथा-कीर्तन का कार्यक्रम मध्य रात्रि तक चलता रहा और मध्य रात्रि में भगवान के जन्म के पश्चात उनके विग्रह का पुष्प अभिषेक किया गया एवं भगवान के विग्रह का मनमोहक अलंकरण-दर्शन किया गया। अंत में सभी भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया ।

 

कार्यक्रम के दौरान कोविड-19 के नियमों का सख्ती से पालन किया गया । ज्यादा भक्तों को कार्यक्रम मैं आने की अनुमति नहीं दी गयी । कूपन के बिना प्रवेश निषेध था । बाकी भक्तों के लिए ऑनलाइन प्रोग्राम की व्यवस्था की गयी थी ।कार्यक्रम को यूट्यूब एवं फेसबुक में लाइव प्रसारित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here