Dhanbad news:तमाम विपक्षी पार्टियों के द्वारा किसान हित में केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर की गई नारेबाजी

NEWSTODAYJ_धनबाद : देश के किसानों के पक्ष में बीते दिन तमाम विपक्षी पार्टियों के द्वारा भारत बंद बुलाया गया था जिसमें देश के हर एक कोने में तमाम विपक्षी पार्टियों ने भाग लिया और भारत बंद को सफल बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ा इसके बावजूद विपक्षी पार्टियों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है और किसान हित को देखते हुए आज एक बार फिर से धनबाद के रणधीर वर्मा चौक पर विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार के खिलाफ एक महा धरना का आयोजन किया जिसमें कॉन्ग्रेस , झारखंड मुक्ति मोर्चा , राजद तथा सी पी आई एम सहित तमाम विपक्षी दल इस महा धरना में शामिल हुए ।

यह भी पढ़े….Dhanbad news:युवती छेड़खानी को लेकर मनचले युवक की पिटाई:लोगो ने कराया उठक बैठक

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

जिसने तमाम विपक्षी दलों के सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल थे केंद्र सरकार पर अपना रोष व्यक्त करते हुए जमकर नारेबाजी की तथा झारखंड मुक्ति मोर्चा के द्वारा ढोल नगाड़े पीटकर केंद्र सरकार पर अपने गुस्सा का ठीकरा फोड़ा।

 

मीडिया से बात करते हुए कॉन्ग्रेस जिला कमेटी के जिला अध्यक्ष बृजेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि आज पूरा विपक्षी दल एक साथ खड़ा है और सभी विपक्षी दलों का एक ही मांग है कि देश में जो जबरन काला कानून को पास कराया गया है उसको वापस लिया जाए और नए सिरे से किसान के पक्ष में नया कानून बनाया जाए और जब तक किसानों की मांगे नहीं मांगी जाएगी तब तक देश के सभी विपक्षी दल किसानों के पक्ष में खड़े रहेंगे एक अचूक एकजुटता का प्रदर्शन करते रहेंगे और अंततः सरकार को झुकने पड़ेगी लगभग 10 महीना पूरे होने जा रहे हैं लेकिन देश के प्रधानमंत्री और गृह मंत्री कान में तेल डालकर सोए हुए हैं अभी भी वक्त है किसानों की जायज मांगों को मान लिया जाए और पूंजी पतियों के पक्ष में जो कानून बनाई गई है उसे निरस्त कर दिया जाए । साथ ही श्री सिंह ने बताया कि इस धरने के बाद हम लोग धनबाद उपायुक्त से मिलकर एक ज्ञापन उनको सौंपेंगे ताकि यह ज्ञापन देश के राष्ट्रपति तक पहुंचाया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here