21 July 2024

DHANBAD:-नवाचार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से धनबाद स्थित आईआईटी आइएसएम में 9 से 10 फरवरी को अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन 2024 का आयोजन होने जा रहा है। जिसमें देश-विदेश के 91 कैंडिडेट्स भाग लेंगे। इससे पूर्व आज आईआईटी आइएसएम के मैनेजमेंट स्टडीज सभागार में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर संस्थान के प्रबंधक ने इसकी जानकारी दी।

Ad Space

आईआईटी आइएसएम में होने जा रहे दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के संबंध में जानकारी देते हुए संस्थान के डिपार्टमेंट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एन्ड इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर विभाष चंद्र ने बताया कि इस सम्मेलन का थीम सस्टेनेबल डेवलपमेंट एंड मैनेजमेंट प्रैक्टिसेज पर आधारित है। वैसे इस सम्मेलन में अन्य कई थीम है जिसमें मुख्य रूप से इनोवेशन मैनेजमेंट स्ट्रेटजी, डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन, ग्लोबल इकोनामिक ट्रेंड्स, सस्टेनेबल एंटरप्रेन्योर एन्ड इनोवेशन, सस्टेनेबिलिटी सप्लाई चैन एन्ड ऑपरेशन मैनेजमेंट, सस्टेनेबल मार्केटिंग है। इसके साथ ही इसमें ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट, इकोनॉमिक्स इन फाइनेंशियल मैनेजमेंट थीम भी शामिल है।

दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन:देश-विदेश के 91 कैंडिडेट्स भाग लेंगे…

उन्होंने बताया कि इस अंतरराष्ट्रीय सम्मिट में 91 कैंडिडेट्स भाग ले रहे हैं।

उन्होंने बताया कि इस कांफ्रेंस में किनोट स्पीकर्स के रूप में कई प्रोफेसर भाग लेंगे। जिनमें मुख्य रूप से आईएम कोजीकोट के प्रोफेसर रूपेश कुमार पति, आईएम कोजीकोट के ही प्रोफेसर एसएसएस कुमार, आयरलैंड स्थित ट्रिनिटी बिजनेस स्कूल के प्रोफेसर बैधनाथ विश्वास, डॉ सतीश सिन्हा एसोसिएट्स वाइस प्रेसिडेंट सस्टेनेबिलिटी ग्रुप अदानी एंटरप्राइज नेचुरल रिसोर्स अहमदाबाद, प्रोफेसर दयाल सरकार स्टेट यूनिवर्सिटी यूएसए शामिल है।

विभागध्यक्ष ने बताया इस कॉन्फ्रेंस में एक सिंपोजियम ऑफ मैनेजमेंट रिसर्च भी रखा गया है।

जिसमें शोधकर्ताओं को रिसर्च की जानकारी दी जाएगी। इस कांफ्रेंस के नोट्स स्पीकर प्रोफेसर राम बालक यादव आई एम जम्मू, प्रोफेसर रोहित गुप्ता आई एम संबलपुर, प्रोफेसर सुबी गुप्ता आई एम संबलपुर और प्रोफेसर प्रतीक्षा मौर्य टेक्निक मणिपाल होंगी।

उन्होंने बताया कि 8 फरवरी को आईटीआई आइएसएम में एक बहुत बड़े वर्कशॉप का भी आयोजन किया जा रहा है। जिसे प्रीकॉन्फ्रेंस वर्कशॉप कहा जाएगा। जिसका थीम एक्सक्लूसिव इनोवेशन फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट लीब्रेचिंग द एचबीएन सीआरआईआईए प्लेटफार्म है। इसके स्पीकर आईआईएम अहमदाबाद के रिटायर्ड प्रोफेसर अनिल कुमार गुप्ता होंगे। जिन्हें ग्रासरूट इनोवेशन का जनक भी कहा जाता है। जिसके लिए भारत सरकार ने उन्हें पद्मश्री और भटनागर अवार्ड से भी सम्मानित कर चुकी है।

विभागध्यक्ष ने बताया कि इस वर्कशाप के माध्यम से शोधकर्ता यह समझ पाएंगे कि आज भी ग्रामीण क्षेत्रों में जहां-जहां भी नवाचार है, इन्नोवेशंस है उस इनोवेशन को लेकर के एक बड़े एंटरप्राइज में विकसित किया जा सकता हैं। इस वर्कशाप का यही उद्देश्य भी है। इस वर्कशॉप में सभी स्टूडेंट्स सहित कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सारे पार्टिसिपेंट्स एक साथ जुड़ेंगे। ताकि इस कांफ्रेंस के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा नवाचार को बढ़ावा दिया जा सके।

"लगातार धनबाद के ख़बरों के लिए हमारे Youtube चैनल को सब्सक्राइब करे"