Delhi: 12वीं के मूल्यांकन का फार्मूला किया मनीष सिसोदिया ने तैयार, शिक्षा मंत्री को दिया सुझाव……

0

Delhi: 12वीं के मूल्यांकन का फार्मूला किया मनीष सिसोदिया ने तैयार, शिक्षा मंत्री को दिया सुझाव……

NEWSTODAYJ_Delhi: मनीष सिसोदिया ने बताया बिना एग्जाम 12वीं का रिजल्ट तैयार करने का फॉर्मूला, केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल को दिए ये सुझाव

मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को चिट्ठी लिखकर 12वीं क्लास के स्टूडेंट्स के मूल्यांकन नीति को लेकर सुझाव दिए.

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को चिट्ठी (Manish Sisodia Letter To Pokhriyal) लिखकर 12वीं क्लास के स्टूडेंट्स के मूल्यांकन नीति को लेकर सुझाव दिए. अपनी चिट्ठी में मनीष सिसोदिया ने स्टूडेंट्स के मूल्यांकन का फॉर्मूला (12th Student Evaluation Formula) बताया है. इस आधार पर बच्चों का 12वीं का रिजल्ट तैयार किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि 12वीं के बच्चों के मूल्यांकन के लिए प्री-बोर्ड एग्जाम की परफॉर्मेंस पर ज्यादा जोर दिया जाए. इसके लिए उन्होंने 25 मई को लिखी अपनी पिछली चिट्ठी का हवाला दिया।

यह भी पढ़ें…रांची:भाजपा युवा मोर्चा नेता समेत 9 ब्राउन शुगर के तस्कर गिरफ्तार

मनीष सिसदिया ने कहा कि 12वीं के बच्चों के मूल्यांकन के लिए प्री-बोर्ड एग्जाम (Pre-Board Exam) और 11वीं के एग्जाम की परफॉर्मेंस को आधार बनाया जाए. उन्होंने कहा कि मूल्यांकन में प्री-बोर्ड एग्जाम को 30 फीसदी वेटेज दिया जाए. वहीं 11वीं के एग्जाम को 20 फीसदी, 10वीं के बोर्ड एग्जाम को 20 फीसदी ही वेटेज दिया जाए. उनका कहना है कि ज्यादातर सब्जेक्ट में थ्योरी का एग्जाम 70 नंबर का होता है, ऐसे में ये तरीका मूल्यांकन के लिए कारगर साबित हो सकता है.

 

 

रिजल्ट के लिए मॉडरेशन की रेंज +5/-5

साथ ही दिल्ली के शिक्षा मंत्री ने अपनी चिट्ठी में सुझाव देते हुए कहा कि 12वीं के रिजल्ट के लिए मॉडरेशन की रेंज +5/-5 की जाए. उन्होंने कहा कि जिन स्कूल ऑफ एक्सेलेंस के बच्चे पहली बार 12वीं के एग्जाम देने वाले थे, उनके लिए पास के स्कूल ऑफ एक्सेलेंस के हिस्टोरिकल रेफरेंस को आधार बनाया जाए

 

कोरोना महामारी की वजह से रद्द हुए 12वीं के एग्जाम

बतादें कि कोरोना महामारी की वजह से इस साल 12वीं के बोर्ड एग्जाम को रद्द कर दिया गया है. वहीं अब ये सवाल भी है कि स्टूडेंट्स के रिजल्ट किस आधार पर तय किए जाएंगे. अभी इस बात पर विचार किया जा रहा है. सुझाव मिलने का दौर जारी है. इस बीच दिल्ली के डिप्टी सीएम ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री को चिट्ठी लिखकर सुझाव दिया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here