Crime news: शूटरों का हुआ सिनाख्त,लाला खान को गोली शूटर आशीष रंजन एवं भोला ने मारी थी…

Crime news:शूटरों का हुआ सिनाख्त,लाला खान को गोली शूटर आशीष रंजन एवं भोला ने मारी थी…

 

 

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

NEWSTODAYJ_crime news:नया बाजार निवासी जमीन कारोबारी एवं मदर हलीमा स्कूल के संचालक लाला खान को आशीष रंजन एवं झरिया के भोला उर्फ राजकुमार ने 12 मई को वासेपुर में गोली मारी थी। लाला खान दिन के तीन बजे अपनी बाइक से जब्बार मस्जिद के सामने गुजर रहा था तो आशीष एवं भोला पल्सर बाइक से आये। पीछे से आवाज लगाई और सिर से सटा कर गोली मार दी। यह जानकारी पुलिस को दिये गये स्वीकारोक्ति बयान में पूनम पासवान ने दी है।

यह भी पढ़ें..crime news:गुमटी को निशाना बनाया चोरो ने हजारों रुपए ले भागे

बैंक मोड़ पुलिस ने कोर्ट में पूनम पासवान का स्वीकारोक्ति बयान जमा किया है। स्वीकारोक्ति बयान अनुसार लाला खान की मर्डर रहमतगंज के तेलिया मदरसा के पास 15 कट्ठा जमीन के लिए की गई है। लोयाबाद जाने के दौरान अमर रवानी ने रास्ते में कहा था कि लाला की मर्डर में बहुत भाग दौड़ हो चुकी है। आशीष व भोला रेल लाइन पार करने का प्रयास कर रहे थे तो बाइक गिर गई। नाली से कूद कर भागने में आशीष रंजन का चप्पल पैर से खुलकर से गिर गया था। लोयाबाद पहुंचने के बाद अमर रवानी ने मर्डर में उपयोग किया गया रिवाल्वर एवं गोली अपने दोस्त डिस्को महतो उर्फ प्रेमचंद महतो को दी थी।

लाला मर्डर केस में जेल भेजे गये पूनम पासवान ने पुलिस को दिये गये स्वीकारोक्ति बयान में कहा है कि आशीष रंजन एंवं भोला का साथ अमर रवानी एवं दानिश भी दे रहे थे। वे लोग साढ़े तीन बजे भागते हुए मुर्गा दुकान के पास आकर बोले कि लाला खान का काम हो गया। इसके बाद दानिश ने गमछा में लपेट कर दो पिस्तौल एवं कुछ गोलियां पूनम पासवान को दी। इसी बीच भोला उर्फ राजकुमार और आशीष रंजन भी आए। पूनम पासवान एवं अमर रवानी एक बाइक से लोयाबाद चला गया। भोला, आशीष एवं दानिश भी बाईक से बांसजोड़ा होते हुए कतरास की ओर भाग निकले।

यह भी पढ़ें…Crime news:तालाब में तैरता मिला महिला का शव

 

सीवान, रांची एवं रहमतगंज में बनी थी प्लानिंग

पूनम पासवान के स्वीकारोक्ति बयान में कहा गया है कि लाला खान की मर्डर की साजिश सीवान, कोलकाता एवं रहमतगंज में रची गई थी। पूनम के स्वीकारोक्ति बयान के मुताबिक अप्रैल के अंतिम सप्ताह में राजू झाड़ी का भाई गुड्डू खान उर्फ मिस्टर एवं आशीष रंजन कोलकाता से धनबाद तो लाला को ठिकाना लगाने की बात हुई। आशीष रंजन ने अपने भाई के शादी में दानिश खान, अमर रवानी, शाहबाज, गुड्डू खान, शेरू खान समेत कई लोगों को सीवान बुलाया। कहा गया कि लाला खान को मारने के बारे में वही सब कुछ तय किया जायेगा। सीवान में शादी समारोह के बाद लाला को मारना था। शादी के तुरंत बाद आशीष रंजन रांची आया जिसे ठहराने का व्यवस्था अमर ने किया था। अमर का दोस्त भोला उर्फ राजकुमार भी आया था जो शूटर है। वहां पर भी लाला के मर्डर की प्लानिंग की गयी। कुछ लोग कोलकाता में थे। मिस्टर एवं शाहबाज अंसारी कोलकाता में थे। उन लोगों से लगातार संपर्क था। दुबारा फैसला लिया गया कि लाला को मारना है। सब लोग राजी हुए तो सभी लोग मर्डर एक सप्ताह पहले मोनारक बेकरी के पास मिस्टर खान के ऑफिस ग जुटना शुरू किए। वही तय हुआ कि मर्डर में तीन बाइक का इस्तेमाल होगा। एक बाइक लाला के घर के पास रहेगी। वही से पीछा होगा। मर्डर के लिए असलहे दानिश लायेगा। लाला को मारने के बाद आर्म्स अमर को देना है। आशीष एवं भोला शूटर का काम करेंगे। और लोग आसपास में घेराबंदी करेंगे।

दानिश एवं राजू ने अमर से कहा था, जमीन से खूब कमा रहा है लाला

 

पूनम पासवान के स्वीकारोक्ति बयान में कहा गया कि पांडरपाला के रहने वाले राजू झाड़ी एवं दानिश पिछले एक महीने से हमेशा अमर रवानी के पास आते थे। वो भी अमर के साथ रहता था। राजू और दानिश कहते थे कि लाला खान बैंक मोड़ में बहुत जमीन खरीद और बेच रहा है। रुपये कमा रहा है। भूली एरिया में भी भूली एरिया में भी जमीन का काम खूब हो रहा है। राजू झाड़ी ने कहा था कि लाला ने रहमतगंज के तेलिया मदरसा के पास 15 कट्ठा जमीन पर कब्जा कर लिया है। इससे उन लोगों को बहुत नुकसान हो रहा है। लाला खान सिर्फ अजहर एवं डिंपी के साथ मिल कर काम रहा है। उन लोगों को रंगदारी नहीं दे रहा है। उसे ठिकाने लगाना है।

केंदुआडीह से आये थे शूटर 

पूनम पासवान के स्वीकारोक्ति बयान के अनुसार दानिश के घर से सुबह में आर्म्स लेकर सभी केंदुआडीह आए। सभी तीन बाइक से सुबह 11 बजे केंदुआडीह से निकले। वहमुर्गा दुकान के पास रुक गया। अमर रेल लाइन के पास गया था। दानिश, मिस्टर, राजू, आशीष, भोला और राजकुमार वासेपुर में नासिर के घर के पास थे। घटना स्थल से कुछ दूरी पर मिस्टर, शाहबाज, डबलू अंसारी समेत और दो तीन लोग थे। साढ़े तीन बजे अमर, दानिश, आशीष एवं भोला भागते हुए मुर्गा दुकान आये। वही से हम लोग अपनी राह निकल लिए।

पूनम के स्वीकारोक्ति बयान पर सवाल दर सवाल

बैंक मोड़ पुलिस पहले केंदुआडीह के पूनम पासवान को लाला खान मर्डर केस में जेल भेजी। पून की निशानदेही पर लोयाबाद में डबल्यू के घर से रिवाल्वर व गोली बरामद हुआ। स्वीकारोक्ति बयान के अनुसार लाला खान की मर्डर से पूनम पासवान को सीधे कोई फायदा नहीं था। वह न तो शूटर है, न उसने रेकी की, न उसने आर्म्स दिया। वह सिर्फ अमर रवानी के साथ बाइक में घूमा है। अमर रवानी ने भी न शूटर है, न उसने रेकी की है। मर्डर से पूनम और अमर को तत्काल कोई लाभ हुआ न बाद में होता। इसके बावजूद पूनम की स्वीकारोक्ति बयान की लाला के मर्डर की पूरी कहानी बताई गई है। पूनम के बयान पर डिस्को महतो के घर बरामद आर्म्स पुलिस ने अभी कोर्ट में पेश नहीं किया है। नियमानुसार पुलिस के समक्ष अभियुक्त के स्वीकारोक्ति बयान को कोर्ट सबूत नहीं मानता। पुलिस इस बायान के अधार पर कड़ी से कड़ी जोड़ एवीडेंस पेश कर अभियुक्तों पर शिकंजा कस सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here