CORONAVIRUS VACCINE: भारत को जल्द मिलेगी दो और कोरोना वैक्सीन, ऐसे तय होगी कीमत पढ़े पूरी खबर…..

1 min read

CORONAVIRUS VACCINE: भारत को जल्द मिलेगी दो और कोरोना वैक्सीन, ऐसे तय होगी कीमत पढ़े पूरी खबर…..

नई दिल्ली: देश में दो कोरोना वैक्सीन को आपात मंजूरी मिलने के बाद 16 जनवरी से कोरोना के खिलाफ टीकाकरण कार्यक्रम शुरू होने जा रहा है। सरकार के प्लान के तहत देश के कई राज्यों में वैक्सीन पहुंचनी भी शुरू हो चुकी है। इस बीच देश को दो और टीके मिलने की संभावना जताई गई है। दरअसल, अगले महीने में कोरोना की दो अन्य वैक्सीन सामने आ रही हैं।

ये दो टीके जल्द हो सकते हैं उपलब्ध

इनमें एक स्वदेशी है, जो कि जाइडस कैडिला कंपनी का है। वहीं दूसरा टीका रूस का स्पूतनिक-5 टीका है। फिलहाल इन दोनों वैक्सीन का ही अंतिम फेज का ट्रायल चल रहा है। सरकार के प्लान के मुताबिक, मार्च महीने के पहले हफ्ते तक चार और अप्रैल के अंत तक देश में पांच तरह के टीके उपलब्ध होंगे। तब तक अनुमान है कि देश में तीन करोड़ हेल्थ वर्कर्स और सुरक्षा जवानों को वैक्सीन दे दी जाएगी। पांच तरह के टीके आने के बाद कीमत भी होगी कम वहीं अगर बाजार में एक बार पांच तरह के टीके उपलब्ध हो जाते हैं तो इनकी कीमतों में भी कमी आएगी। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य सरकारों के साथ मिलकर टीके की कीमतों पर विचार करेंगे। आपको बता दें कि वैक्सीनेशन शुरू होने से पहले ही इसकी कीमतों को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। एक तरफ राज्यों की डिमांड है कि केंद्र टीकाकरण पर खर्च के लिए मदद करे, वहीं दूसरी ओर आम जनता के लिए टीके की कीमत क्या होगी यह अभी तक तय नहीं हुआ है।

क्या है केंद्र का प्लान?
आपको बता दें कि बीते सोमवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम मोदी की हुई बैठक में कुछ राज्यों ने यह मांग की थी कि वैक्सीनेशन का पूरा खर्च केंद्र उठाए। इस पर पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ सरकार की योजना को साझा करते हुए कहा था कि अगले दो से तीन महीने में देश में चार से पांच तरह के टीके उपलब्ध होंगे, जिसके बाद फिर से बैठक कर कीमत और बजट पर चर्चा की जाएगी।

अभी इन्हें दी जा रही है प्राथमिकता!

फिलहाल देश में टीकाकरण के पहले चरण में कुछ खास लोगों को प्राथमिकता दी जा रही है। केंद्र सरकार के मुताबिक कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन के लिए प्राथमिकता वाले समूहों में संक्रमित होने या मृत्यु का खतरा ज्यादा होने वाले लोग, हेल्थ वर्कर्स, फ्रंट लाइन वर्कर्स, 50 वर्ष के ऊपर के उम्र वाले लोग और पहले से बीमार व्यक्ति शामिल हैं। अभी हर किसी को टीका उपलब्ध नहीं होगा, लेकिन जून तक मार्केट में टीका उपलब्ध होने की उम्मीद है।

आपको बता दें कि भारत में फिलहाल सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक के स्वदेश में विकसित टीके ‘कोवैक्सीन’ के देश में सीमित आपात इस्तेमाल को भारत के औषधि नियामक की ओर से मंजूरी दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.