NEWSTODAYJ_पटना: नए साल के मौके पर 18 से 15 साल के बच्चों का टीकाकरण (Vaccination of Children in Bihar) किया जाना है, जिसके लिए बिहार में कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन (Registration on Covin Portal) के लिए प्रक्रिया शुरू हो रही है. इसके तहत बिहार में 83,46,000 बच्चों का टीकाकरण किया जाना है. बच्चों के वैक्सीनेशन के मामले में बिहार देश का दूसरा राज्य है, जहां सबसे अधिक 15 से 18 साल के बच्चे हैं. इसलिए बिहार में 3 जनवरी से बच्चों का वैक्सीनेशन होना है, जिसे लेकर बड़ी तैयारी की गई है.

शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ विभाग की हाई लेवल बैठक की. इसमें नए साल के मौके पर शुरू हो रहे वैक्सीनेशन सेंटर पर विस्तार से जानकारी ली और आवश्यक दिशा निर्देश दिए. प्रदेश में शुरुआती चरण में हाई और इंटरमीडिएट स्तर के विद्यालयों में वैक्सीनेशन होना है. वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन और ऑफलाइन भी होगा.

यह भी पढ़े….Corona Vaccine:15-18 साल आयु वर्ग के वैक्सीनेशन के लिए क्या करना होगा ,पढ़े विस्तृत रिपोर्ट

कुछ विशेष स्वास्थ्य केंद्रों पर बच्चों का वैक्सीनेशन भी 3 जनवरी से ही शुरू होगा. स्कूलों में बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर हाल ही में स्कूल के प्रिंसिपल और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक भी हुई है. बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर के स्कूलों से संख्या प्राप्त की जा रही है और उसी अनुरूप वैक्सीनेटर और वेरीफायर की व्यवस्था की जा रही है. डोज का निर्धारण किया जा रहा है

बच्चों के वैक्सीनेशन के तहत पटना में 4.30 लाख बच्चों के वैक्सीनेशन किए जाने हैं और इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी तैयारी में लगे हुए हैं. बच्चों का वैक्सीनेशन स्कूलों में होना है. 3 जनवरी को वैक्सीनेशन का काम शुरू हो रहा है और शिक्षा विभाग के आदेश के तहत 2 जनवरी को प्रभात फेरी निकाली जानी है, लेकिन इस अनुरूप राजधानी पटना के स्कूलों में साल के आखिरी दिन तैयारी नजर नहीं आई.बता दें कि बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा बच्चों के वैक्सीनेशन के लिए गाइडलाइन (Children Covid Vaccination Guideline) जारी कर दी गई है. इसके तहत 3 जनवरी से स्कूलों में बच्चों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा. इंटरमीडिएट स्तर तक के स्कूलों को वैक्सीनेशन सेंटर बनाया जाएगा और कैंपस में रंगोली के माध्यम से वैक्सीनेशन के प्रति बच्चों को जागरूक किया जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *