Corona Vaccine:15-18 साल आयु वर्ग के वैक्सीनेशन के लिए क्या करना होगा ,पढ़े विस्तृत रिपोर्ट

0

 

NEWSTODAYJ_हैदराबाद: शनिवार 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 से 18 साल तक के बच्चों के लिए कोविड टीकाकरण का ऐलान कर दिया, इसके अलावा 60 से अधिक उम्र के बुजुर्गों और फ्रंट लाइन वर्कर्स के लिए बूस्टर डोज़ का भी ऐलान किया है. लेकिन बच्चों के वैक्सीनेशन या बुजुर्गों को बूस्टर डोज़ (Booster dose) या प्रिकॉशन डोज़ (Precaution Dose) लेने के लिए क्या करना होगा. इसके तहत क्या प्रक्रिया होगी इसकी जानकारी के लिए पढ़े विस्तृत खबर..

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

15-18 साल आयु वर्ग के वैक्सीनेशन के लिए क्या करना होगा बच्चों के वैक्सीनेशन (covid-19 vaccine for children) और बुजुर्गों को बूस्टर डोज़ को लेकर नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के सीईओ और कोविन के प्रमुख डॉ. आरएस शर्मा (RS Sharma) ने गाइडलाइंस (covid vaccination guidelines) के बारे में जानकारी दी है.

 

15-18 साल के बच्चों के टीकाकरण के लिए 1 जनवरी 2022 से रजिस्ट्रेशन शुरू होगा और 3 जनवरी 2022 से टीकाकरण शुरू होगा.वैक्सीनेशन के लिए कोविन (CoWIN)पर ही रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे. जैसा कि अब तक 18 साल से अधिक उम्र के लोग वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करते आए हैं.बच्चों के रजिस्ट्रेशन के लिए एक अतिरिक्त कार्ड जोड़ा गया है. बच्चों के पास आधार कार्ड, वोटर आईडी या पैन नंबर ना होने की स्थिति में 10वीं का आईडी कार्ड या 10वीं का सर्टिफिकेट रजिस्ट्रेशन के लिए जोड़ा गया है.इससे पहले अब तक व्यस्कों के वैक्सीनेशन के लिए 9 आईडी की सूची में से एक आईडी को चुनना होता था. जिसमें आधार कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, पेंशन पासबुक, एनपीआर स्मार्ट कार्ड, यूनीक डिसएबिलिटी आईडी या राशन कार्ड शामिल है. इस सूची में अब बच्चों के लिए दसवीं का आइडी कार्ड भी जोड़ा गया है.15-18 साल की उम्र के बच्चों को कोवैक्सीन की डोज दी जाएगी. क्योंकि DGCI ने 12 साल से 18 साल की उम्र के बच्चों के टीकाकरण के लिए भारत बायोटैक की कोवैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. हालांकि सरकार ने फिलहाल 15 साल से 18 साल तक के बच्चों के वैक्सीनेशन का ही फैसला लिया है.

डॉ. आर. एस. शर्मा :बुजुर्गों को बूस्टर डोज़ लेने के लिए क्या करना होगा (guidelines for booster dose)

15-18 साल के बच्चों के वैक्सीनेशन के अलावा 60 साल से अधिक आयु के उन बुजुर्गों को बूस्टर डोज़ दी जाएगी, जो किसी गंभीर रूप से किसी बीमारी से जूझ रहे हैं. आइये आपको बताते हैं कि बुजुर्गों को अपनी बूस्टर डोज़ लेने के लिए क्या करना होगा.बूस्टर डोज़ के लिए कोविन एप पर ठीक उसी तरह रजिस्ट्रेशन करना होगा जैसा वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज़ के वक्त किया था.बुजुर्गों को प्रिकॉशन या बूस्टर डोज 10 जनवरी से दी जाएगी.दूसरी डोज़ लेने के 9 महीने (39 हफ्ते) बाद ही तीसरी यानी बूस्टर डोज़ दी जाएगी.उसी टीके की बूस्टर डोज़ दी जाएगी जिसकी पहले से दो डोज ले चुके हैं. मसलन कोवैक्सीन की दो डोज़ लेने वालों को बूस्टर डोज़ के तौर पर कोवैक्सीन और कोविशील्ड की दो डोज़ ले चुके बुजुर्गों को बूस्टर डोज़ के तौर पर कोविशील्ड ही दी जाएगी.को-मोबिलिटी (Comorbidities) यानी किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहें हैं तो रजिस्ट्रेशन के वक्त पूछा जाएगा. जवाब हां में होने पर वैक्सीनेशन के लिए रजिस्टर्ड डॉक्टर से मिला को-मोबिलिटी सर्टिफिकेट दिखाना होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि डॉक्टर की राय के बाद ही ऐसे बुजुर्ग बूस्टर डोज़ ले सकेंगे.

यह भी पढ़े…CORONA VACCINE: कोरोना के डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ कम असरदार वैक्सीन :डब्ल्यूएचओ का दावा    

इस सर्टिफिकेट को कोविन प्लेटफॉर्म पर अपलोड भी कर सकते हैं या फिर वैक्सीनेशन सेंटर पर भी इसकी कॉपी साथ ले जा सकते हैं.सरकार द्वारा बुजुर्गों के पहले डोज़ के वक्त ही कोमॉर्बिटीज यानि उन गंभीर बीमारियों की सूची जारी की गई थी जिसका सर्टिफिकेट दिखाने पर उन्हें वैक्सीनेशन में तरजीह दी गई थी. इन बीमारियों में डायबिटीज, किडनी डिजीज या डायलिसिस, कार्डियोवेस्कुलर, स्टेमसेल ट्रांसप्लांट, कैंसर, सिरोसिस, सिकल सेल डिजीज, सांस लेने की गंभीर बीमारी, मूक बधिर या अंधापन जैसी कई विक्लांगता, हाई सपोर्ट की जरूरत वाले विकलांग, रेसपिरेटरी सिस्टम पर एसिड अटैक, मस्कुलर डिस्ट्रॉफी आदि शामिल है.कुल मिलाकर आपको डॉक्टर से एक ऐसा मेडिकल सर्टिफिकेट लेना होगा. जो बताए कि आप किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं जिसके चलते आप कोरोना वायरस का आसान शिकार हो सकते हैं.ध्यान रहे कि आप दो डोज ले चुके हैं और आपकी जानकारी कोविन प्लेटफॉर्म पर पहले से उपलब्ध है.

हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी बूस्टर डोज़हेल्थ वर्कर्स और फ्रंट लाइन वर्कर्स को भी 10 जनवरी 2022 से बूस्टर डोज़ दी जाएगी. पहली डोज़ की तरह बूस्टर डोज़ में भी उन्हें तरजीह दी गई है. हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को बूस्टर डोज़ के लिए उम्र या बीमारी का कोई सर्टिफिकेट देने की कोई जरूरत नहीं है. वो कोविन प्लेटफॉर्म पर पहली और दूसरी डोज़ की तरह रजिस्ट्रेशन करके बूस्टर डोज़ ले सकेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here